MPPSC : अटकी कई भर्ती, रिजल्ट में देरी पर अभ्यर्थी परेशान, चीफ जस्टिस को लिखेंगे पत्र, जानें मामला

वही ओबीसी आरक्षण पर मामला हाईकोर्ट में लंबित होने और फैसला नहीं आने की वजह से MPPSC द्वारा राज्य सेवा परीक्षा 2019 की प्रक्रिया को अंतिम दौर में रोक दिया गया है।

MPPSC

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एमपीपीएससी (MPPSC) और व्यापम की भर्ती की परीक्षा (Exam recruitment) आयोजित हो गई है लेकिन उसके रिजल्ट जारी नहीं किए गए हैं। ओबीसी आरक्षण पर लंबित विवाद के कारण पीएससी और व्यापम के छात्रों मुख्य न्यायाधीश के नाम विनती पत्र भेजने का अभियान शुरू कर दिया। दरअसल 25 जुलाई को OBC आरक्षण (OBC Reservation) के मामले में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट (MP High court) में सुनवाई होनी है। इससे पहले परेशान MPPSC के उम्मीदवार हाई कोर्ट को पत्र लिखेंगे। उनमें से 5000 उम्मीदवारों द्वारा पत्र लिखा जा चुका है।

इधर हाईकोर्ट को लिखे पत्र में अभ्यर्थी उनसे ओबीसी आरक्षण मामले पर निर्णय सुनाने का आग्रह कर रहे हैं। बता दें कि मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में ओबीसी आरक्षण का मामला अटका हुआ है। शासकीय सेवाओं में 27% ओबीसी आरक्षण का फैसला कमलनाथ सरकार द्वारा लिया गया था। जिसके कारण विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई है। वही शासन के निर्देशानुसार MPPSC द्वारा 27% आरक्षण लागू कर दिया गया। जिसके बाद मामला हाईकोर्ट में पहुंच गया।

Read More : NABARD Recruitment : उम्मीदवारों के लिए बड़ा मौका, इन पदों पर निकली भर्ती, 18 जुलाई से शुरू होंगे आवेदन, जानें पात्रता और नियम

वहीं आरक्षण के खिलाफ 5901 याचिका नंबर, 2019 में उच्च न्यायालय में दाखिल की गई थी। तब से अब तक इस पर अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है। वही ओबीसी आरक्षण पर मामला हाईकोर्ट में लंबित होने और फैसला नहीं आने की वजह से MPPSC द्वारा राज्य सेवा परीक्षा 2019 की प्रक्रिया को अंतिम दौर में रोक दिया गया है। वहीं राज्य सेवा परीक्षा 2020 और राज्य सेवा परीक्षा 2021 सहित अन्य परीक्षाओं के नतीजे भी जारी नहीं किए जा रहे हैं। जिससे छात्रों की आयु सीमा बढ़ती जा रही है और उन्हें लंबा नुकसान लग रहा है।

वही याचिका पर अब 25 जुलाई को सुनवाई होनी है। सुनवाई के पहले तीन लाख से अधिक उम्मीदवार द्वारा हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखा जा रहा है। जिसमें जल्द से जल्द फैसला सुनाने की अपील की जा रही है। ओबीसी आरक्षण पर फैसला आने के बाद ही राज्य सेवा परीक्षा के रिजल्ट जारी किए जाएंगे। बता दें कि मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा ओबीसी आरक्षण विवाद के बीच राज्य सेवा परीक्षा 2019 का इंटरव्यू, 2020 के मेंस के रिजल्ट और 2021 के पुलिस परीक्षा के रिजल्ट को रोका गया है।

वहीं MPPEB द्वारा भी ओबीसी आरक्षण व्यवस्था पर निर्णय का इंतजार किया जा रहा है। इसके लिए कई परीक्षा को लंबित रखा गया है। जिसके कारण उम्मीदवार परेशान हो रहे हैं। वहीं अब ओबीसी आरक्षण फैसले के इंतजार में कई उम्मीदवारों वृद्धि हो गए हैं। ओबीसी आरक्षण पर रिजल्ट आने के बाद कई छात्रों की भर्ती प्रक्रिया फिर से शुरू हो जाएगी। जिससे 12000 से 15000 पदों पर भर्ती प्रक्रिया आयोजित की जाएगी।