PM Kisan : लाखों हितग्राही किसान के लिए बड़ी खबर, शुरू हुई प्रक्रिया, खाते में जल्द पहुंचेंगे 11वीं किस्त के 2000 रूपए

जिसमें सरकार किसानों को सालाना 6,000 रुपये प्रदान करती है।

PM KISAN

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan) से जुड़े हितग्राहियों (beneficiaries) के लिए बड़ी खबर है। PM Kisan योजना से किसान बेसब्री से अपनी 11वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं। केंद्र सरकार द्वारा किसानों को ₹6000 सालाना राशि प्रदान की जाती है। इससे पहले एक बार फिर से ओटीपी प्रमाणीकरण (OTP authentication) की व्यवस्था शुरू कर दी गई है।

दरअसल प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan) की 11वीं किस्त से पहले लाभार्थियों को E-kyc करने के लिए कहा गया। हालांकि केवाईसी ओटीपी प्रमाणीकरण पहले बंद कर दिया गया था। जिसे फिर से बहाल कर दिया गया हैं। इसके लिए अब आधार सेवा केंद्र (AADHAE Centers) पर जाने की जरूरत नहीं है। हितग्राही घर बैठे ही ई-केवाईसी का काम पूरा कर सकेंगे।

दरअसल पीएम किसान पोर्टल पर आधारित ओटीपी प्रमाणीकरण को कुछ दिनों के लिए रोका गया था। जिसे फिर से बहाल किया गया है। वहीं पीएम किसान से जुड़े हितग्रही ने अभी तक ईकेवाईसी का काम पूरा नहीं किया है तो जल्द से जल्द इसे पूरा करें वरना 11वीं किस्त रुक सकती है।

Read More : Government Job 2022 : कर्मचारी राज्य बीमा निगम में निकली भर्ती, जानें आयु-पात्रता, 10 मई से पहले करें आवेदन

  • इसके लिए सबसे पहले मोबाइल लैपटॉप पर पीएम किसान की वेबसाइट पर जाएं
  • ईकेवाईसी का लिंक ओपन करें
  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर दर्ज करें और सर्च बटन पर क्लिक करें।
  • 4 डिजिट की ओटीपी के बॉक्स पर क्लिक करें आधार ऑथेंटिकेशन के लिए क्लिक करें और 6 अंकों के और ओटीपी दर्ज करें
  • जिसके बाद आपका e-kyc का कार्य पूरा होगा।

बता दें कि E-Kyc की आखिरी तारीख को बढ़ाकर 31 मई किया गया है। आधार कार्ड के जरिए हितग्राही के पैसे का काम पूरा कर सकते हैं। साथ ही नजदीकी सीएससी सेंटर पर भी जा कर यह कार्रवाई पूरी की जा सकती है।

Read More : IMD Alert : 1 मई तक 13 राज्यों में जारी रहेगा बारिश का दौर, उत्तर-मध्य के 7 राज्यों में हीटवेव का अलर्ट

ईकेवाईसी ऑफलाइन कैसे पूरा करें

ईकेवाईसी ऑफ़लाइन पूरा करने के लिए, किसानों को बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए निकटतम सामान्य सेवा केंद्र पर जाना होगा। केवाईसी अपडेट करने के लिए किसानों को अपना मोबाइल नंबर, अपना आधार कार्ड नंबर, बैंक खाता नंबर और IFSC/MIC कोड शेयर करना होगा। वे ऑपरेटर या कार्यकारी से पीएम किसान खाते के लिए ईकेवाईसी को अपडेट करने और बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण समाप्त करने के लिए कह सकते हैं।

इधर महाराष्ट्र सरकार के नवीनतम रिपोर्टों के अनुसार, महाराष्ट्र में 26,000 से अधिक किसान किसानों के लिए केंद्र की सबसे महत्वपूर्ण योजना – पीएम किसान के तहत अपात्र पाए गए हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन अपात्र किसानों के खातों में ट्रांसफर की गई 11 करोड़ रुपये की राशि की वसूली की जानी है।

रायगढ़ जिले के तहसीलदार सचिन शेजल ने कहा कि जिले में कुल 26,618 किसान अपात्र पाए गए हैं और उनसे 11 करोड़ रुपये की संचयी राशि जल्द से जल्द वसूल की जानी है। शेजल ने कहा कि यह पाया गया है कि 4,509 किसान आय का भुगतान करते हैं उनसे 3.81 करोड़ रुपये में से 2.20 करोड़ रुपये की वसूली की जा चुकी है और शेष 22,109 किसानों से 7.65 करोड़ रुपये की वसूली की जानी है, जिसमें से 34.54 लाख रुपये ही वसूल हो पाए हैं।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है। जिसमें सरकार किसानों को सालाना 6,000 रुपये प्रदान करती है। पैसा सीधे बैंक खातों में 2000 रुपये की तीन समान किस्तों में स्थानांतरित किया जाता है। आखिरी किस्त 1 जनवरी, 2022 को ट्रांसफर की गई थी और जल्द ही सरकार करोड़ों किसानों को 11वीं किस्त जारी करेगी। इसलिए इससे पहले किसानों को यह सुनिश्चित करने के लिए लाभार्थी की स्थिति और सूची की जांच करनी चाहिए कि उन्हें पैसा मिलेगा या नहीं।

पीएम किसान लाभार्थी की स्थिति की जांच कैसे करें

  • पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • ‘किसान कॉर्नर’ विकल्प पर क्लिक करें और फिर ‘लाभार्थी स्थिति’ पर क्लिक करें।
  • अब आपको या तो आधार नंबर या बैंक अकाउंट नंबर चुनना होगा। विवरण भरने के बाद चयन करें
  • फिर अपने लेनदेन या भुगतान के सभी विवरण प्राप्त करने के लिए ‘डेटा प्राप्त करें’ पर क्लिक करें।