सीएम शिवराज सिंह चौहान बोले- वैक्सीन के बाद भी लापरवाही नहीं, प्लाज्मा डोनेट करें

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में आज 5 मई से 18 पार वालों को वैक्सीन (Vaccination) लगना शुरु हो गई है। 5 से 15 मई के बीच 1 लाख 48 हजार वैक्सीन के डोज लगाए जायेंगे। इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामन आया है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं नहीं कहता, वैज्ञानिक कहते हैं, तथ्य बताते हैं कि वैक्सीनेशन लगवाने के बाद अलबत्ता तो कोरोना होगा नहीं, और यदि हुआ तो नुकसान नहीं पहुँचाएगा।

यह भी पढ़े.. Teacher Recruitment :शिक्षक भर्ती के लिए दस्तावेजों का सत्यापन 25 मई तक स्थगित

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमारी कोशिश रहेगी कि हम अपने प्रदेश के युवाओं को वैक्सीन के सुरक्षा चक्र में जल्द से जल्द सुरक्षित कर दें। वैक्सीन के बाद भी लापरवाह नहीं होना है। मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग आदि गाइडलाइंस का पालन करते रहिये।हम स्कूल (School) और कॉलेज (College) में वैक्सीनेशन का कार्य करेंगे। समय आने पर हमें दूसरा डोज़ भी लगवाना है और उसके बाद भी सभी सावधानियों का पालन करना है। इसका कोई साइड इफैक्ट नहीं है। थोड़ा बुखार आए तो डॉक्टर के निर्देश का पालन करें।

दरअसल, आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 18 वर्ष से अधिक और 45 वर्ष तक आयु वर्ग के युवाओं से उनके टीकाकरण के पश्चात एवं पहले के अनुभवों पर वे वर्चुअली चर्चा की और कहा कि प्रदेश एवं देश की जनता को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उन्हें वैक्सीनेशन का सुरक्षा चक्र प्रदान किया जा रहा है। प्रदेश में लगभग 5 करोड़ 16 लाख वैक्सीन डोज की जरूरत होगी। मंगलवार को 25 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन भी प्राप्त हुए हैं। इनका आवश्यकतानुसार वितरण कराया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. संक्रमण के नियंत्रण पर फोकस, शिवराज सिंह चौहान ने प्रभारी मंत्रियों को सौंपी ये बड़ी जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सागर, जबलपुर, उज्जैन और ग्वालियर के 18 वर्ष से अधिक आयु के वैक्सीनेटेड युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि एक-एक जिले में एक-एक सत्र में वैक्सीनेशन कराया गया है। इस महीने 9 लाख लोगों को टीका लगाया जाएगा। अभी तक लगभग 82 लाख लोगों को टीका लगाया गया है।  देश की दो कंपनियों को वैक्सीनेशन आपूर्ति के लिए आदेश के साथ भारत सरकार के माध्यम से विदेशी कंपनियों से आपूर्ति के प्रयास किये जा रहे हैं।

वैक्सीनेशन में नहीं हुई कोई परेशानी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से वर्चुअली चर्चा करते हुए सागर की शीतल और राज ने कहा कि वैक्सीन लगवाने में कोई परेशानी नहीं हुई। पोर्टल पर सहजता से पंजीयन हो गया था एवं समय पर स्लॉट एवं सूचना मिल गयी थी। इसके बाद जबलपुर के शुभम एवं शुभाँगी से पूछा कि वैक्सीनेशन के बाद किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट तो नहीं हुआ। उन्होंने कहा कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ।

मुख्यमंत्री की अपील-प्लाज्मा और ब्लड करें डोनेट

ग्वालियर की आयुषी के प्रस्ताव का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपील की है कि दूसरों की सहायता के लिए पुराने कोरोना पेशेन्ट अपना प्लाज्मा (Plazma) डोनेट करें। प्लाज्मा से दूसरे मरीजों की जान बचाई जा सकती है। उन्होंने आम जनता से कहा कि सप्ताह में 4 दिन वैक्सीनेशन किया जाएगा। वैक्सीनेशन के पहले व्यक्ति अपना ब्लड डोनेट कर सकते हैं। इससे आवश्यकता पड़ने पर दूसरों की मदद की जा सकेगी।

गौरतलब है कि वैक्सीनेशनदिवस सोमवार, बुधवार, गुरुवार एवं शनिवार प्रात: 9 बजे से सायं 5 बजे तक होगा। नियमित टीकाकरण दिवस मंगलवार एवं शुक्रवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन नहीं होगा।एक सेशन में 18 से 44 वर्ष तक के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। ऐसे व्यक्ति जिन्होंने 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर ली है, वे वैक्सीन लगवाने के पात्र होंगे। पूर्व से संचालित कोविड टीकाकरण में स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंट लाईन वर्कर्स एवं 45 वर्ष से ऊपर के ऐसे हितग्राही जो सेकेंड डोज से वंचित रह गए हैं, उनको प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन की सेंकड डोज लगाई जाएगी।

ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

  • वैक्सीनेशन के लिये हितग्राहियों को रजिस्ट्रेशन कोविन पोर्टल selfregistration.covin. gov.in पर जाकर अपना रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर डालना है।
  • मोबाईल पर 6 अकों का ओटीपी आयेगा।
  • ओटीपी सबमिट करने पर डिटेल दिखेगी, उसमें जाकर नजदीक के वैक्सीनेशन सेंटर एवं टाईम स्लाट बुक कराना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन के लिये फोटो युक्त आईडी जैसे आधार कार्ड, पेन कार्ड, ड्राइविंग लायसेंस इत्यादि की आवश्यकता होगी।