madhya pradesh

बड़वाह, बाबूलाल सारंग। वन क्षेत्र से लगे गावों में तेंदुए का भय बना हुआ है। हालांकि, तेंदुए ने अभी तक किसी इंसान पर हमला नहीं किया। लेकिन, मवेशियों(Animals) को जरुर अपना शिकार(Prey) बनाया है। समीपस्थ ग्राम रूपाबेड़ी में शनिवार-रविवार की दरमियानी रात तेंदुए ने बाड़े में बंधे बछड़ा का शिकार कर लिया। तेंदुआ ने नाले के समीप बछड़े का शिकार किया।
इसके बाद उसे अधखाया छोड़कर निकल गया। मवेशी पालक नन्नू पिता पेमाजी ने बताया की घर से कुछ दुरी पर बाड़ा है। सुबह 6 बजे जब खेत मालिक नन्नू पिता पेमाजी जब बाड़े में पहुंचे तो उन्हें वहां बछड़ा नहीं दिखा। जब आसपास देखा तो जमीन पर खून एवं तेंदुए द्वारा बछड़े के घिसट के ले जाने के निशान थे।

ये भी पढ़े- Seoni News: बिजली लाईन के झूलते तारों में हुआ शार्ट-सर्किट, आग की आगोश में आई लाखों की फसल

निशानों का पीछा करते हुए जब नन्नू नाले के पास पहुंचा तो उसने देखा की बछड़े का शव अधखाया पड़ा हुआ है। उन्होंने इसकी सूचना स्थानीय ग्रामीणों एवं वन विभाग(Forest Department) को दी। इस घटना के बाद वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच और घटनास्थल का निरिक्षण किया। रेंजर धर्मेन्द्र सिंह राठौर ने बताया की पंचनामा बना लिया गया है। साथ ही पीड़ित को मुआवजे के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई गई है। स्थानीय निवासियों ने बताया की एक वर्ष पूर्व जगदीश चरक के बाड़े में भी तेंदुए ने हमला कर बछड़े को मार दिया था।

 

ये भी पढ़े- MP Weather Update: मप्र में बादल छाने के आसार, यहां तेज बारिश और ओले की संभावना