कांग्रेस MLA के खिलाफ थाने पहुंची प्रज्ञा ठाकुर, पुलिस ने दर्ज नहीं की FIR, धरने पर बैठीं

भोपाल| भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने जिन्दा जला देने की धमकी देने वाले कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है| शनिवार शाम साध्वी प्रज्ञा विधायक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने भोपाल के कमलानगर थाने  पहुंची| इस दौरान उन्होंने विधायक के खिलाफ एफआईआर की मांग की| एफआईआर दर्ज नहीं किये जाने पर साध्वी ने कड़ी नाराजगी जताते हुए धरने पर बैठ गई| उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर उनके साथ कहीं भी कुछ भी होता है तो इसकी जिम्मेदार कांग्रेस सरकार होगी| 

दरअसल, नाथूराम गोडसे को लेकर बयानबाजी पर साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ कांग्रेस ने प्रदेश भर में प्रदर्शन किये| इसको लेकर सांसद प्रज्ञा ठाकुर को संसद में माफ़ी भी मांगनी पड़ी| उनके बयान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए पुतला दहन के दौरान ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी ने कहा था कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर यहां आईं तो उन्हें भी जला देंगे। हालाँकि विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने अपने बयान पर माफ़ी भी मांग ली| इस मामले में तब एक नया मोड़ आया जब प्रज्ञा ठाकुर ने ट्वीट कर चुनौती दे दी कि मैं ब्यावरा आ रही हूँ जला लेना| इस घटनाक्रम के बाद शनिवार को साध्वी प्रज्ञा कमलनगर थाने पहुंची| 

एफआईआर नहीं लिखे जाने से नाराज प्रज्ञा ठाकुर ने कहा जिस प्रकार से एक विधायक ने उन्हें जिन्दा जला कर मारने की धमकी दी, फिर भी विधायक के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई| जब एक सांसद होने के नाते भी उनकी सुनवाई नहीं हो रही है तो एक जनप्रतिनिधि होने के नाते हम किसी और को कैसे न्याय दिला पाएंगे| जिन्दा जलाने वाली मानसिकता कांग्रेस के विधायक रखते हैं| एफआईआर नहीं लिखे जाने पर भाजपा नेताओं ने थाने में जमकर हंगामा किया| इसके बाद साध्वी प्रज्ञा धरने पर बैठ गई|