सीएम शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। दिल्ली दौरे पर सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)  केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की और किसानों के चमकविहीन गेहूँ का उठाव की मांग की और कहा कि इस वर्ष भी प्रदेश में 128.16 लाख मीट्रिक टन गेहूँ का उपार्जन हुआ है और इसका पूरा श्रेय किसानों (Farmers) को जाता है। इस पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Union Minister Piyush Goyal) ने इस संबंध में उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़े.. सियासी हलचल के बीच दिल्ली पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान, पीएम से इन मुद्दों पर हुई चर्चा

दरअसल, मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज दिल्ली दौर पर है। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी के अलावा कई केन्द्रीय मंत्रियों से मुलाकात की और मध्य प्रदेश के कई मुद्दों पर चर्चा की।इस दौरान सीएम ने केन्द्रीय रेल, उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री  पीयूष गोयल से उनके कार्यालय में मुलाकात  कर MP में इस वर्ष कठिन परिस्थिति में किसानों के चमकविहीन गेहूँ का उठाव करवाए जाने की मांग की।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि MP के विभिन्न जिलों में हुई असमय वर्षा के कारण प्रदेश के 26 जिलों में गेहूँ की चमकविहीनता की स्थिति उत्पन्न हुई है, लेकिन उसकी पौष्टिकता और गुणवत्ता बरकरार है। केन्द्र सरकार ने 10 प्रतिशत तक चमकविहीन गेहूँ का उपार्जन करने की अनुमति प्रदान की है। उन्होंने मांग की राज्य में असमय वर्षा के कारण चमकविहीनता का प्रतिशत 10 से लेकर 80 प्रतिशत तक हो गया, जिसका उपार्जन किसानों के हित में किया गया है। केन्द्र सरकार भारतीय खाद्य निगम द्वारा 80 लाख मीट्रिक टन गेहूँ का उठाव शीघ्रातिशीघ्र कराये, जिससे भण्डारण की समस्या उत्पन्न न हो।

यह भी पढ़े… MP Weather Alert: मप्र के इन संभागों में झमाझम के आसार, कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विगत वर्षों में प्रदेश में सार्वजनिक वितरण प्रणाली में गेहूँ की खपत सीमित होने कारण उपार्जित चमकविहीन गेहूँ के निस्तारण में अत्यधिक समय लगने की संभावना है। अतः विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी उपार्जित चमकविहीन गेहूँ का भारतीय खाद्य निगम में परिदान लिये जाने की अनुमति शीघ्र प्रदान करें।वही केन्द्रीय मंत्री  पीयूष गोयल ने इस संबंध में उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।वही केन्द्र में लम्बित प्रदेश की विभिन्न रेल परियोजनाओं पर भी चर्चा की और उन पर केन्द्र द्वारा शीघ्र निर्णय लेने का अनुरोध किया।इस पर भी शीघ्र निर्णय लेने का आश्वासन मिला।