दमोह उपचुनाव: राहुल लोधी को टक्कर दे सकता है यह कांग्रेस नेता, नाम का ऐलान जल्द

दमोह उपचुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। चुनाव आयोग (Election Commission)के ऐलान के बाद मध्य प्रदेश में 17 अप्रैल 2021 को दमोह विधानसभा में उपचुनाव (Damoh By-election) होना है। दमोह उपचुनाव के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने राहुल लोधी (Rahul Lodhi) को बीजेपी प्रत्याशी घोषित किया है। वही कांग्रेस (Congress)  के अंदरखानों से छन-छन के खबरें आ रही है कि दमोह जिला अध्यक्ष अजय टंडन (Ajay Tandon) को लोधी के सामने मैदान में उतारा जा सकता है।

यह भी पढ़े.. दमोह उपचुनाव 2021: कांग्रेस प्रत्याशी के लिए चर्चा में इनके नाम, 1-2 दिन में ऐलान संभव

सुत्रों के हवाले से, हाल ही में एमपी कांग्रेस ने दो नामों अजय टंडन और मनु मिश्रा का पैनल तैयार किया था, इसमें टंडन के नाम पर सहमति बनी है।कहा जा रहा है कि दिल्ली (Delhi) हाईकमान के साथ हुई पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) की बैठक के बाद अजय टंडन के नाम पर मुहर लग सकती है। एक दो दिन में एआईसीसी (AICC) से हरी झंड़ी मिलने के बाद दमोह उपचुनाव टंडन को उम्मीदवार घोषित किया जा सकता है

आपको बता दे कि अजय टंडन वही है जो 2018 से पहले के दो विधानसभा चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार जयंत मलैया  (Jayant Malaiya)  को कड़ी टक्कर दे चुके है, हालांकि जीत हासिल ना हो सकी। वही हाल ही में टंडन ने समर्थकों के साथ मिलकर राजधानी भोपाल  (Bhopal) में पीसीसी कार्यालय के बाहर शक्ति प्रदर्शन किया था और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी  समेत कई नेताओं से मुलाकात कर टिकट देने की मांग की ।

यह भी पढ़े.. MPPSC: कोरोना पॉजिटिव छात्र भी परीक्षा में हुए शामिल, PPE कीट पहन पहुंचे सेंटर

इसके अलावा कांग्रेस नेता राशु चौहान ने दावा तक कर दिया है कि दमोह सीट पर यदि अजय टंडन को पार्टी उम्मीदवार बनाती है तो पार्टी की जीत पक्की है।टंडन कांग्रेस को दमोह उपचुनाव में जीत दिलवा पाते है या नहीं यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि कमलनाथ 25 मार्च काे दमोह जाएंगे तो उससे पहले टंडन का नाम कांग्रेस प्रत्याशी को तौर पर घोषित किया जा सकता है।

बीजेपी की राह भी आसार नहीं

कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए राहुल लोधी को वर्तमान में कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त है और वे मध्य प्रदेश सिविल सप्लाई कॉरपोरेशन के अध्यक्ष भी हैं, बावजूद इसके जीतना उनके लिए बड़ी चुनौती है। इसकी वजह दमोह से 7 बार के विधायक एवं पूर्व मंत्री जयंत मलैया का विरोध है, ऐसे में भितरघात से नुकसान होने की आशंका है, जिसका फायदा कांग्रेस को मिल सकता है।कांग्रेस भी मलैया परिवार के अगले कदम का इंतजार कर रही है, ताकी उनकी बगावत और फूट का फायदा उन्हें मिल सके।वही बीजेपी भी मलैया परिवार को साधने में जुटी है, ताकी कोई डैमेज ना हो।

 दमोह उपचुनाव 2021 के कार्यक्रम पर एक नजर

  • दिनांक 23 मार्च मंगलवार को दमोह उपचुनाव का गजट नोटिफिकेशन
  • दिनांक 30 मार्च मंगलवार नामांकन जमा कराने की लास्ट डेट
  • दिनांक 31 मार्च बुधवार नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी
  • दिनांक तीन अप शनिवार नामांकन वापस लेने की लास्ट डेट
  • दिनांक 17 अप्रैल 2021 शनिवार मतदान यानी वोटिंग
  • दिनांक 2 मई 2021 रविवार मतगणना एवं चुनाव परिणाम