शिक्षक

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शासकीय स्कूल (Government School) शिक्षक (Teacher) बनने का सपना देख रहे उम्मीदवारों के लिए खुशखबरी है। कोरोना काल और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते अधर में लटकी मप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 (MP Teacher Eligibility Test 2018) की प्रक्रिया को शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने दोबारा से शुरु करने का फैसला किया है। लोक शिक्षण संचालनालय (Directorate of public education) की आयुक्त जयश्री कियावत ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए है, इसके अब शिक्षक भर्ती (Teacher Recruitment) के उम्मीदवारों के दस्तावेजों का सत्यापन 1 अप्रैल से फिर शुरू होगा।

यह भी पढ़े.. MP Budget 2021-22: अधर में लटकी 21 हजार की नियुक्ति, 24 हजार नई शिक्षक भर्ती का ऐलान

स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री इन्दर सिंह परमार ने बताया कि उच्च माध्यमिक शिक्षक और माध्यमिक शिक्षक पद (Teacher Recruitment) के अभ्यर्थियों के दस्तावेजों के सत्यापन की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार)  परमार के निर्देश पर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद के लिए 1,3,5,8,9 और 10 अप्रैल 2021 तथा माध्यमिक शिक्षक पद के लिए 15, 16, 17, 22, 23 एवं 24 अप्रैल 2021 को दस्तावेज सत्यापन की कार्यवाही संपन्न की जाएगी। लोक शिक्षण संचनालय द्वारा इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

ये है पूरा मामला

दरअसल, 2018 में तत्कालीन शिवराज सरकार ने मप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 (MP Teacher Eligibility Test 2018) का आयोजन किया था।इसमें स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) के अंतर्गत 17,000 उच्च माध्यमिक शिक्षकों के पद , 5,670 माध्यमिक शिक्षकों के पद और आदिम जाति कल्याण विभाग के अंतर्गत उच्च माध्यमिक शिक्षकों के 2,220 एवं माध्यमिक शिक्षकों के 5,704 पद रखे गए थे। इसके बाद विधानसभा चुनाव हुए और कांग्रेस की कमलनाथ सरकार (Congress Government) आ गई और उन्होंने सितंबर 2019 में रिजल्ट घोषित कर दिया।

इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) द्वारा सत्ता पलट, कोरोना वायरस और उपचुनाव के चलते पूरी प्रक्रिया अधर में लटक गई।  जैसे तैसे  हालात सुधरे तो मप्र शिक्षक पात्रता संघ (MP Teacher Eligibility Association) द्वारा पीईबी (MPPEB) को ज्ञापन और स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार (Inder Singh Parmar) के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) से धरना-प्रदर्शन कर दोबारा प्रक्रिया शुरु करने की मांग की गई और उसे पूरा भी किया गया लेकिन कोरोना (Corona) के चलते जुलाई 2020 में सत्यापन कार्यक्रम को स्थगित कर दिया।

यह भी पढे.. MP में स्कूल शिक्षा विभाग का अधिकारी रिश्वत लेते धराया, लोकायुक्त को देख निकले आंसू

इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) भी सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) को भर्ती प्रक्रिया फिर से शुरु करने को लेकर कई बार पत्र लिख चुके थे। लेकिन अब आज  International Women’s Day पर शिक्षकों को तोहफा देते हुए सरकार ने दोबारा से प्रकिया शुरु करने का फैसला किया है। इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि शिक्षक भर्ती (Teacher Recruitment) के लिए उम्मीदवारों के दस्तावेजों का सत्यापन 1 अप्रैल से फिर शुरू होगा। उच्च माध्यमिक शिक्षक 1 अप्रैल और माध्यमिक शिक्षक के 15 अप्रैल से होगा। वर्तमान में 30 हजार से ज्यादा शिक्षकों के पद भरे जाने हैं।

2018 से 2020 तक ऐसे चली शिक्षक भर्ती प्रक्रिया

  • 10 सितंबर 2018 को विज्ञापन जारी।
  • 1 से 11 फरवरी तक चली उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा।
  • 16 फरवरी से 10 मार्च तक माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा।
  • 28 अगस्त को उच्च माध्यमिक शिक्षक रिजल्ट।
  • 26 अक्टूबर को माध्यमिक शिक्षक का रिजल्ट।
  • 1 जुलाई से उच्च माध्यमिक शिक्षक भर्ती के लिए सत्यापन प्रक्रिया।
  •  4 जुलाई 2020 को स्थगित।
  • 8 मार्च 2021 दोबारा प्रक्रिया शुरु होने के आदेश।
  • 1 अप्रैल से होगा दस्तोवेजों का सत्यापन।