मुरैना शराब कांड : TI के बाद आबकारी अधिकारी सस्पेंड, सीएम शिवराज बोले- दोषी को छोड़ेंगे नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुरैना की बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखदायी घटना है। मामले की जांच जारी है, लेकिन प्रथम दृष्टया सुपरविजन में लापरवाही करने पर डिस्ट्रिक्ट एक्साइज अफसर को सस्पेंड (Suspend) किया गया है।

morena case

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुरैना (Morena) में हुए जहरीली शराब कांड (Poisonous liquor) के बाद  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है। टीआई (Morena TI) के बाद जिला आबकारी अधिकारी (District Excise Officer) को सस्पेंड  (Suspend) कर दिया गया है।वही कहा कि जांच के बाद किसी भी दोषी को नही बख्शा जाएगा।इस मामले में मुरैना एसपी (Morena SP) पर भी गाज गिर सकती है।

यह भी पढ़े… मुरैना शराब कांड : 11 की मौत के बाद बवाल, TI सस्पेंड, परिजनों का हंगामा, मौके पर भारी पुलिस बल

आज मीडिया से चर्चा के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि मुरैना की बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखदायी घटना है। मामले की जांच जारी है, लेकिन प्रथम दृष्टया सुपरविजन में लापरवाही करने पर डिस्ट्रिक्ट एक्साइज अफसर को सस्पेंड (Suspend) किया गया है। जांच के बाकी तथ्य जैसे ही आयेंगे, जो भी दोषी होंगे, वो छोड़े नहीं जायेंगे। हम कठोर कार्रवाई करेंगे।

इससे पहले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कहा था कि मुरैना में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की घटना बेहद दुखद और पीड़ादायक है। इस मामले में संबंधित थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है। जांच के लिए अलग से एक दल भी भेजा जा रहा है। घटना के लिए जिम्मेदार कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा।

यह भी पढ़े… मुरैना शराब कांड : कमलनाथ का वार- आख़िर कब तक शराब माफ़िया जान लेते रहेंगे?

इधर घटना के बाद कांग्रेस ने शिवराज सरकार को घेरना शुरु कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने ट्वीट कर शराब माफियाओं को संरक्षण देने के आरोप लगाए है और परिवार को आर्थिक सहायता और सरकारी नौकरी की भी मांग की गई है। इस मामले में सुमावली से कांग्रेस विधायक अजब सिंह कुशवाह (Congress MLA Ajab Singh Kushwaha) मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करेंगे और मांग करेंगे कि मृतक के परिजनों को 25 लाख मुआवजा और एक सरकारी नौकरी दी जाए।वही घटना के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here