जमीन आवंटन मामला: दिग्विजय सिंह समेत 10 नेताओं पर FIR, प्रदर्शन के दौरान जुटाई थी भीड़

आज रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत सैकड़ों कांग्रेस नेताओं-कार्यकर्ताओं ने गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में आरएसएस के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया था।

दिग्विजय सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) पर कोरोना आपदा के दौरान धरना प्रदर्शन और शासकीय आदेशों का उल्लंघन करने पर मामला (FIR) दर्ज किया गया है। दिग्विजय सिंह पर धारा 188,147 और 269 के तहत भोपाल के अशोका गार्डन थाने में मामला दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़े.. Scholarship 2021: छात्रों के लिए राहत भरी खबर, 15 जुलाई तक कर सकते है आवेदन

इतना ही नहीं दिग्विजय के साथ पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, कांग्रेस जिला अध्यक्ष कैलाश मिश्रा समेत 10 लोगों पर नामजद मामला दर्ज किया गया है।इसके अलावा प्रदर्शन में शामिल 200 अन्य लोगों पर भी मामला दर्ज हुआ है, इनके खिलाफ वीडियो ग्राफी पहचान कर नामजद कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल, आज रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत सैकड़ों कांग्रेस नेताओं-कार्यकर्ताओं ने गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में उन्होंने RSS की लघु उद्योग भारती संस्था को 10 हजार वर्ग फुट जमीन आवंटन करने पर विरोध जताया था।इसी पर लघु उद्योग भारती ने आवंटित जमीन पर सुबह 11 बजे भूमिपूजन किया था।

यह भी पढ़े.. पृथ्वी से टकराएगा Solar Storm! 16 लाख KMPH रफ्तार से बढ़ रहा आगे, इन चीजों पर डालेगा असर

कांग्रेस के विरोध को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने यहां बैरिकेड लगाकर, कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की थी लेकिन जब वो नहीं मानें तो उनपर वाटर कैनन का इस्तेमाल कर दिया गया था, जिससे कार्यकर्ता तीतर बितर हो गए।इससे पहले यहां सीएम की भोपाल डीआईजी इरशाद वली से नोकझोंक भी हुई थी।दिग्विजय सिंह ने चेतावनी देते हुए कहा था कि यदि पार्क में RSS ने शिलान्यास किया तो हम उसे तोड़ देंगे। इस पर डीआईजी ने भी कहा कि हम आप पर नजर रखेंगे।