गोपाल भार्गव ने अधिकारियों को दिए निर्देश- समय सीमा से पहले करें पूरा कार्य

प्रमुख सचिव ने मंत्री गोपाल भार्गव को बताया कि अस्पताल की चौथी मंजिल में 94 बिस्तर तथा नौवीं मंजिल में 60 बिस्तर वाले जनरल वार्ड का सिविल वर्क पूरा कर लिया गया है।

गोपाल भार्गव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के बीच मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की शिवराज सरकार (Shivraj Government) नित नए और बड़े फैसले ले रही है। समीक्षा बैठकों के बाद कलेक्टरों-कमिश्नरों और अधिकारी-कर्मचारियों को ऑक्सीजन(Oxygen), रेमडेसिविर इंजेक्शन (Ramdescivir Injection) और अस्पतालों से संबंधित रोज दिशा-निर्देश दिए जा रहे है।इसी कड़ी में अब लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव (PWD Minister Gopal Bhargava)ने अधिकारियों से कहा है कि शासकीय चिकित्सालयों (Government hospitals) में निर्माण कार्य तय समय सीमा से पूर्व पूर्ण किए जाए।

यह भी पढ़े.. मध्य प्रदेश: 3 महीने तक फ्री राशन पाने के लिए जानें क्या है पूरी प्रोसेस, पढ़िए यहां

दरअसल, आज लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और अबतक की स्थिति के बारें में जानकारी प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश के सभी शासकीय चिकित्सालयों में लोक निर्माण विभाग द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्य तय समय सीमा से पूर्व पूर्ण किए जाए। इन कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता दे।

इसी क्रम में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नीरज मंडलोई ने आज हमीदिया चिकित्सालय परिसर का निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल परिसर में संचालित निर्माण कार्य का अवलोकन किया और सभी कार्यों को तत्परता के साथ पूरा करने के निर्देश दिए। वही चिकित्सालय परिसर में विद्युत की आपूर्ति और सुरक्षा संबंधी उपायों के विषय में भी अधिकारियों से जानकारी ली और निर्देश दिए कि चिकित्सालय में विद्युत आपूर्ति बहाल रखी जाए।

यह भी पढ़े.. पीएम किसान सम्मान निधि: किसानों के लिए काम की खबर, जानें कब आएगी 8वीं किस्त

प्रमुख सचिव ने मंत्री गोपाल भार्गव को बताया कि अस्पताल की चौथी मंजिल में 94 बिस्तर तथा नौवीं मंजिल में 60 बिस्तर वाले जनरल वार्ड का सिविल वर्क पूरा कर लिया गया है। इन वार्ड में फर्नीचर और लाइट का काम कराया जा रहा है। इसके साथ ही चिकित्सालय की 10वीं और 11वीं मंजिल पर ऑक्सीजन पाइप लाइन बिछाने का काम तेजी से किया जा रहा है, इसके लिए एक सौ पचास से अधिक कारीगरों और मजदूरों को लगाया गया है। उन्होंने 22 अप्रैल तक 120 आक्सीजन युक्त बिस्तरों वाला वार्ड मरीजों को उपलब्ध कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।