Me Too : राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ने सोनिया से की चन्नी को हटाने की मांग

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। पंजाब के नवनियुक्त मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का एक पुराना मामला फिर विवादों में है। इसे लेकर बीजेपी जहां चन्नी पर गंभीर आरोप लगा चुकी है, वहीं अब राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ने भी सोनिया गांधी से चन्नी को पद से हटाने की मांग की है।

EOW जबलपुर : आईएफ़एस शैलेन्द्र कुमार गुप्ता सहित दो वन अधिकारियों और नामी 15 टिंबर संचालकों पर मामला दर्ज

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के खिलाफ 2018 में मीटू #metoo को लेकर आरोप लगे थे। राज्य की एक महिला आईएएस अधिकारी ने उनपर अश्लील मैसेज भेजने का आरोप लगाया था, जिस पर उन्होंने माफी भी मांगी थी और कहा था कि वह मैसेज गलती से चला गया है। हालांकि महिला आईएएस ने इस मामले में कोई शिकायत नहीं की थी लेकिन राज्य महिला आयोग ने इस का स्वत: संज्ञान लेते हुए उन्हें हटाने की मांग की । सोमवार को राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट करके चन्नी को हटाने की मांग दोहराई है। रेखा शर्मा ने कहा है कि आज चन्नी को एक महिला के नेतृत्व वाली पार्टी ने पंजाब सीएम बनाया है। यह विश्वासघात है। वह महिला सुरक्षा के लिए खतरा है। उसके खिलाफ जांच होनी चाहिए। वह सीएम बनने के लायक नहीं है। मैं सोनिया गांधी से उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटाने का आग्रह करती हूं।

इसके पहले सोमवार की सुबह मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने भी चरणजीत सिंह चन्नी के इसी मामले को लेकर उन पर तंज कसा था और कहा था कि अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा होने के आरोप लगाए थे लेकिन चन्नी के मुख्यमंत्री बनने से तो पंजाब की आधी आबादी यानी महिलाओं को खतरा है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष के इस बयान के बाद अब चन्नी के विरोधियों को एक और मौका मिल गया है और वे उन्हें अस्थिर करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे, इसकी पूरी संभावना है।