MP Board: 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के परीक्षार्थियों की बढ़ सकती है परेशानी, यह है कारण

लेकिन इस साल हर विषय के पेपर में सिर्फ 1 दिन का गैप विद्यार्थियों को दिया गया है।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) ने शनिवार को 10वीं और 12वीं बोर्ड (MP Board Exam) परीक्षा के लिए टाइम टेबल (time table) जारी कर दिया है। इसके साथ ही मंडल द्वारा सभी जिलों से परीक्षा केंद्रों (exam center) की जानकारी मांगी गई थी।

लेकिन चौंकाने वाली बात यह है कि परीक्षा कहां होगी। इसको लेकर अब तक अधिकारी केंद्रों का चयन नहीं कर पाए हैं।बता दें कि माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव का कहना है कि केंद्र की संख्या में बढ़ोतरी की जाएगी। वही माना जा रहा है कि आज से कल तक में परीक्षा केंद्रों की लिस्ट फाइनल कर दी जाएगी।

इस बार माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड परीक्षा के लिए पैटर्न में बदलाव किया है। जिसके मुताबिक पहली श्रेणी के वस्तुनिष्ठ प्रश्न के लिए छात्रों को ओएमआर (OMR) सीट उपलब्ध कराई जाएगी। वही विश्लेषणात्मक प्रश्न के लिए छात्रों को कॉपी उपलब्ध कराई जाएगी। छात्रों को उत्तर पुस्तिका के द्वितीय और तृतीय श्रेणी के 20 प्रश्नों को निश्चित समय सीमा में हल करना होगा। वही मंडल द्वारा कहा गया है कि 2 महीने देर से शुरू हो रही परीक्षा के बाद परिणाम को जल्द जारी किया जा सके। इसलिए बदलाव किए गए हैं।

Read More: MPPSC: अभ्यर्थियों को मिली बड़ी राहत, हाईकोर्ट ने लोक सेवा आयोग को दिए ये आदेश

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा बोर्ड परीक्षा में प्रश्न बैंक (Question Bank) अपलोड किए गए हैं। मंडल का कहना है कि 80% प्रश्न छात्रों को प्रश्न बैंक से ही पूछे जाएंगे। यदि छात्र प्रश्न बैंक को अच्छी तरह से पढ़ ले तो आसानी से पास हो सकेंगे। बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण मार्च महीने से स्कूलों को बंद रखा गया था। जिसे कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई का खासा नुकसान हुआ है। वहीं ऑनलाइन कक्षा में 10वीं और 12वीं के 70% सिलेबस ही पूरे किए गए हैं। ऐसी स्थिति में छात्रों को अधिक परेशानी ना हो। इसके लिए निर्णय लिया गया।

वहीं परीक्षा को आसान बनाने के लिए प्रश्न पत्र का ब्लूप्रिंट भी वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। हालांकि इसके लिए विद्यार्थी को कुछ परेशानी का सामना करना पड़ रहा है एक तरफ हिंदी के विद्यार्थी इसका लाभ ले रहे हैं। अंग्रेजी माध्यम के विद्यार्थियों को मॉडल प्रश्न पत्र का हिंदी से अंग्रेजी अनुवाद खुद ही करना पड़ रहा है। इसके साथ ही छात्रों की परेशानियों को दूर करने के लिए मंडल द्वारा नंबर भी जारी कर दिए गए।

Read More:जब संसद में सिंधिया ने दिग्विजय से कहा, सब आपका ही आशीर्वाद है, देख वीडियो 

ज्ञात हो कि मध्यप्रदेश में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा 30 अप्रैल से शुरू की जाएगी। वही10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 35 दिन के बजाय 16 से 18 दिन में ही समाप्त की जाएगी। हर साल हर विषय की परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को लंबा गैप दिया जाता था लेकिन इस साल हर विषय के पेपर में सिर्फ 1 दिन का गैप विद्यार्थियों को दिया गया है।

इतना ही नहीं इसके साथ साथ मूल्यांकन अवधि को भी घटाया गया है। मूल्यांकन अवधि में 10 से 15 दिन की कटौती की गई है। इसके साथ ही इस बार नियमित और दिव्यांग परीक्षार्थियों की परीक्षा सामान्य रूप से एक ही दिन एक ही समय पर संचालित की जाएगी। जबकि हर साल दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए दोपहर एक से 4:00 बजे तक परीक्षा विशेष समय में आयोजित होती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here