MP Weather: 5 वेदर सिस्टम एक्टिव, 12 जिलों में भारी बारिश -बिजली गिरने का अलर्ट, 4 जुलाई से फिर बदलेगा मौसम

आज शनिवार 2 जुलाई 2022 को 12 जिलों में भारी से अति भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। वही सभी 5 संभागों और 8 जिलों में बिजली गिरने और चमकने को लेकर भी चेतावनी जारी की गई है।

mp weather

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। वर्तमान में अलग अलग स्थानों पर 5 वेदर सिस्टम एक्टिव होने से मानसून एक्टिव हो गया है।  एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज शनिवार 2 जुलाई 2022 को 12 जिलों में भारी से अति भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। वही सभी 5 संभागों और 8 जिलों में बिजली गिरने और चमकने को लेकर भी चेतावनी जारी की गई है। बंगाल की खाड़ी में भी मानसूनी हलचल तेज हुई है, इसके असर से पांच जुलाई से पूर्वी मप्र में एवं सात जुलाई से पश्चिमी मप्र में झमाझम वर्षा का सिलसिला शुरू हाेने की संभावना है

एमपी मौसम विभाग (MP Weather alert ) के अनुसार, आज शनिवार 2 जुलाई 2022 को रीवा और शहडोल संभाग के साथ कटनी, छिंदवाड़ा, सिवनी, सागर और छतरपुर में भारी बारिश को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है। वही भोपाल, नर्मदापुरम, चंबल, शहडोल और रीवा संभाग संभागों के साथ डिंडौरी, जबलपुर, बालाघाट, नरसिंहपुर, देवास, खंडवा, शाजापुर और गुना में गरज चमक के साथ बिजली गिरने और चमकने का अलर्ट जारी किया गया है।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Update ) के अनुसार, 4 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में कम दवाब का क्षेत्र विकसित होगा, इसके बाद 5 जुलाई से फिर मानसून मेहरबान होगा और ग्वालियर-चंबल संभाग में अच्छी बारिश के आसार बनेंगे।इंदौर में इस मानसून सीजन में अब तक 125 मिलीमीटर वर्षा हुई है। जून माह में औसत से कम वर्षा हुई, जुलाई और अगस्त माह में वर्षा का स्तर सामान्य के आसपास रहेगा।

यह भी पढ़े.. MP Weather: 3 वेदर सिस्टम एक्टिव, 18 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, 5 संभागों में बिजली गिरने की भी चेतावनी

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Forecast ) के अनुसार, वर्तमान में 5 वेदर सिस्टम एक्टिव है। वर्तमान में पूर्वी राजस्थान पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात मौजूद है। इस चक्रवात से लेकर पश्चिम-मध्य अरब सागर तक एक द्रोणिका लाइन बनी हुई है। अरब सागर में भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात मौजूद है। पूर्व-पश्चिम द्रोणिका लाइन पश्चिमोत्तर राजस्थान से लेकर दक्षिणी उत्तर प्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल से होते हुए पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी तक विस्तृत है। दक्षिणी गुजरात से दक्षिणी महाराष्ट्र तट के समानांतर अपतटीय द्रोणिका बनी हुई है। इन 5 मौसम सिस्टम के कारण बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से नमी मिल रही है और मध्य प्रदेश में कहीं–कहीं वर्षा हो रही है ।

पिछले 24 घंटे का बारिश का रिकॉर्ड

शनिवार को भी दोपहर के बाद गरज-चमक के साथ वर्षा होने की संभावना है। उधर पिछले 24 घंटों के दौरान शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक भोपाल शहर में 80.2, उमरिया में 42.6, छिंदवाड़ा में 40.2, जबलपुर में 35, सतना में 15.1, पचमढ़ी में 14, रायसेन में 9.4, मंडला में आठ, दतिया में 4.6, खंडवा में तीन, धार में 2.3, मलाजखंड में दो, बैतूल में 1.6, खजुराहो में 1.4, नर्मदापुरम में 1.2, गुना में 0.9, सागर में 0.8, नौगांव में 0.2, रतलाम में 0.1 मिलीमीटर वर्षा हुई।

Rainfall DT 02.07.2022
(Past 24 hours)
Umaria 42.6
Chindwara 40.2
Jabalpur 35.0
Satna 15.1
Pachmarhi 14.0
Raisen 9.4
Mandla 8.0
Khandwa 3.0
Dhar 2.3
Bhopal 2.2
Malanjkhand 2.0
Betul 1.6
Khajuraho 1.4
Narmadapuram 1.2
Guna 0.9
Sagar 0.8
Guna 0.9
Nowgaon 0.2
Ratlam 0.1
Ujjain trace
Indore trace
Datia 4.6
Bhopal City 80.2

 

 

 

MP Weather: 5 वेदर सिस्टम एक्टिव, 12 जिलों में भारी बारिश -बिजली गिरने का अलर्ट, 4 जुलाई से फिर बदलेगा मौसम