आदिवासियों को लेकर कमलनाथ का बड़ा बयान,छिंदवाड़ा के बाद डिंडौरी और मंडला को दूंगा प्राथमिकता

डिंडौरी।

मुख्यमंत्री कमलनाथ आज डिंडौरी जिले में शबरी माता जयंती पर आयोजित आदिवासी सम्मेलन में शामिल हुए। कार्यक्रम में सीएम कमलनाथ का अलग अंदाज में आदिवासी जैकेट पहनाकर आदिवासी परंपरा के साथ स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने समारोह में शबरी के बेर भी खाए। कार्यक्रम के दौरान सभा को संबोधित करते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा कि डिंडौरी मेरे लिए नया नहीं है, यहां से पिछले 40 साल से मेरा नाता रहा है। मैं छिंदवाड़ा के बाद डिंडौरी और मंडला को प्राथमिकता दूंगा। बंद पड़ी योजनाओं को फिर से शुरू किया जाएगा। मजदूरों को पलायन नहीं करना पड़ेगा आर्थिक गतिविधि बढ़ेगी। इस दौरान मंत्री लखन घनघोरिया, तरुण भनोट, ओमकार मरकाम सहित कई विधायक और कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

उन्होंने कहा कि आदिवासी लोग बहुत ही भोले-भाले होते हैं और जिस दिन आदिवासी मुंह चलाना सीख जाएंगे, एक नया इतिहास लिख देंगे। आदिवासी अपनी आवाज उठाएं। उन्होंने विकास कार्यों को लेकर कहा कि मेरे साथी ओमकार और भूपेंद्र मेरा कुत्र्ता पकडक़र डिंडौरी और मंडला के विकास कार्य करवाएंगे। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आदिवासी क्षेत्रों में विकास का एक नया इतिहास बनाया जाएगा। पलायन रोकने, रोजगार देने और आदिवासियों को स्थानीय उपज का उचित दाम दिलाने के लिए सुनियोजित योजनाएं बनेंगी।

भाजपा पर साधा निशाना
इस दौरान सीएम कमलनाथ भाजपा पर जमकर बरसे। उन्होंने प्रदेश की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब हमने सत्ता संभाली तब हमें खाली खजाना मिला था। किसान आत्महत्या कर रहे थे, हमारे सामने चुनौतियां बहुत है। चौदह महीने में हमने नियत और नीति का परिचय दिया है। मैं घोषणाएं करने पर विश्वास नहीं करता। पिछली सरकार के तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 21 हजार घोषणाएं की थीं। उनका परिणाम क्या हुआ इसे पूरा प्रदेश जानता है। उन्होंने कहा कि आम जनता भी घोषणाओं पर ताली न बजाए। जब उनके सामने काम पूरा हो जाए उन्हें महसूस हो कि उनका विकास हो रहा है, रोजगार मिल रहा है तब वे ताली बजाए। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार कहने नहीं काम करने पर विश्वास करती है। इसके साथ ही केन्द्र सरकार पर भी बरसते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नौजवान और किसानों की बात नहीं करते, बल्कि राष्ट्रवाद की बात करते हैं। पाकिस्तान की बात करते हैं। डिंडौरी की आवाम से निवेदन करता हूं की सच्चाई देखकर काम करिएगा।