MP: पुरानी पेंशन बहाली पर बड़ी अपडेट, शिक्षकों में बढ़ा आक्रोश, 1 मई को भोपाल में बड़ा महासम्मेलन

पुरानी पेंशन बहाली, अनुकंपा नियुक्ति और क्रमोन्नति की मांग को लेकर एक बार फिर शिक्षक सड़क पर उतरने को तैयार है।

old pension scheme

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पुरानी पेंशन बहाली (MP Old Pension Scheme) की मांग एक बार फिर तेज हो गई है। प्रदेश के शिक्षकों (MP Teacher) का आक्रोश फिर बढ़ने लगा है।1 मई अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस को आजाद अध्यापक-शिक्षक संघ ने भोपाल में बड़ा महासम्मेलन बुलाया है, जिसमें सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) को भी आमंत्रित किया गया है।इससे पहले वे ध्वज यात्रा निकालेंगे, जो विदिशा के श्रीगणेश मंदिर से शुरू होगी और करीब चार दिन में भोपाल पहुंचेगी।

यह भी पढ़े.. MP में पेट्रोल-डीजल के दामों में नहीं हुए बदलाव, प्रदेश में ईंधन अब भी महंगा, जाने अपने शहर का हाल

दरअसल, आगामी चुनावों से पहले प्रदेश के 2.87 लाख शिक्षकों ने अपनी मांगों को लेकर शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पुरानी पेंशन बहाली, अनुकंपा नियुक्ति और क्रमोन्नति की मांग को लेकर एक बार फिर शिक्षक सड़क पर उतरने को तैयार है। मनोकामना यात्रा के बाद अब आजाद अध्यापक-शिक्षक संघ के बैनर तले लाखों शिक्षक विदिशा से भोपाल तक ध्वज यात्रा निकालने जा रहे है।यह यात्रा विदिशा के सलामतपुर से शुरू होगी और 4 दिन में भोपाल पहुंचकर यात्रा महासम्मेलन में तब्दील होगी।इस दौरान शिक्षक हाथ में ध्वज लेकर अपनी मांगों की आवाज बुलंद करेंगे और भजन भी गाएंगे।

यह भी पढ़े.. MP Weather: 2 वेदर सिस्टम एक्टिव, सोमवार से होगा मौसम में बदलाव, इन जिलों में लू का अलर्ट

खास बात ये है कि 1 मई को भोपाल में होने वाले इस महासम्मेलन में  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी आमंत्रित किया गया है।इसके लिए संघ ने भोपाल कलेक्टर, पुलिस आयुक्त के कार्यालय में अनुमति का आवेदन लगा दिया है और तय किया है कि अगर मप्र सरकार अनुमति नहीं देती है तब भी राजधानी भोपाल में 1 मई को महासम्मेलन किया जाएगा।शिक्षकों की सबसे बड़ी मांग पुरानी पेंशन बहाली है। उनका कहना है कि  जब राजस्थान और छत्तीसगढ़ सरकार बहाली कर सकती है, तो मध्य प्रदेश सरकार क्यों नहीं? इससे सरकार पर तत्काल कोई आर्थिक भार नहीं आएगा, क्योंकि ज्यादातर शिक्षक वर्ष 2035 के बाद सेवानिवृत्त होंगे और तभी राशि की जरूरत पड़ेगी।