गरीबों की योजना बंद करने के खिलाफ विपक्ष का विधानसभा तक पैदल मार्च

भोपाल। मध्य प्रदेश में यूरिया संकट लगातार गहराता जा रहा है। कमलनाथ सरकार के खिलाफ विपक्ष ने शुक्रवार को मोर्चा खोल दिया। विपक्ष ने बिड़ला मंदिर से लेकर विधानसभा तक भाजपा विधायकों ने पैदल मार्च निकाला। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराद सिंह चौहान ने आरोप लगा कि सरकार ने संबल योजना को बंद कर दिया। गरीबों के साथ अत्याचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर कही फर्जीवाड़ा हुआ था तो उसकी जांच कर कार्रवाई की जाना चाहिए थी। लेकिन पूरी योजना ही बंद करदी। वहीं, अतिथि शिक्षिकों को नियमितिकरण को लेकर भी सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। 

उन्होंने कहा कि, सरकार ने गरीबों से उनकी अंत्येष्टि तक के पांच हज़ार बंद कर दिए। कन्या विवाह राशि  भी अभी तक प्रदेश में किसी भी जोड़े को नहीं दी गई है। सरकार भारी वित्तय संकट से जूझ रही है। लगातार कर्ज पर कर्ज लिया जा रहा है। पूर्व कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी कमलनाथ सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि सरकार ने गरीबों से बिजली बिल वसूल कर रही है। जनता परेशान है। लेकिन सरकार को इससे कोई सरोकार नहीं है। सरकार को जगाने और जवाब मांगने के लिए यह पैदल मार्च निकाला जा रहा है। आज विधानसभा में सरकार को इन मुद्दों पर घेरा जाएगा। सरकार से जवाब मांगा जाएगा।