सज्जन के साथ दुर्जन करतूत, प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व मंत्री का मोबाइल चोरी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) का मोबाइल (Mobile) मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय परिसर से चोरी हो गया। मोबाइल चोरी होने की रिपोर्ट पुलिस में लिखाई गई है इस मामले में कांग्रेस और बीजेपी में आपस में व्यंग्य बाण चला रहे हैं।

Indore News: 47 लाख लेकर प्रेमी के साथ भागी महिला लौटी, बोली-पति के साथ ही रहना है

दिग्गज कांग्रेसी नेता सज्जन सिंह वर्मा का मोबाइल प्रदेश कांग्रेस कार्यालय परिसर से मंगलवार को किसी ने पार कर दिया। मोबाइल उनकी जेब से उस समय चोरी हुआ जब वे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) के साथ जिला प्रभारियों की बैठक में शामिल होने आऐ थे। यह बैठक हाल ही में संपन्न हुए तीन विधानसभा और एक लोकसभा उपचुनाव की समीक्षा सहित आने वाले कार्यक्रमों पर आधारित थी। सज्जन वर्मा का एप्पल आईफोन चोरी होते ही बीजेपी ने व्यंग्य भरे तंज दागने शुरू कर दिये। मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने ट्वीट कर लिखा “कांग्रेस की बैठक में केवल पूर्व मंत्री व विधायक ही शामिल थे फिर भी सज्जन वर्मा का मोबाइल चोरी हो गया!! इसे कहते हैं #हाथ की सफाई।” बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सुरेंद्र शर्मा ने सोशल मीडिया पर लिखा ‘कांग्रेस की बैठक में जेब कतरे’ साथ ही उन्होंने लिखा ‘आम जनता तो थी नहीं। बेचारे विधायकों के बीच में जेब कतरे ने सब विधायकों की इज्जत पर सवालिया निशान लगा दिया।’ एक और बीजेपी प्रवक्ता नरेंद्र शिवाजी ने लिखा ‘बड़ी-बड़ी बातें करने वाले अपना मोबाइल बचा नहीं पा रहे हैं। कांग्रेस विधायक दल को और बदनाम कर दिया।’ सुरेंद्र शर्मा का एक और बयान आया कि ‘मोबाइल बचाने की हैसियत नहीं, सरकार क्या खाक बचा पाते।’

लेकिन इन सब के बाद कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने धमाकेदार पलटवार किया। ट्वीट कर उन्होंने लिखा “जानकारी दुरुस्त कीजिए। सज्जन वर्मा जी का मोबाइल बैठक से नहीं, सड़क पर चोरी गया। अब उनकी जेब में तो मोबाइल था लेकिन भाजपा के लोग तो ब्राह्मणों बनिया वर्ग को जेब में लेकर चलने की बात करते हैं।” यह सीधा-सीधा बीजेपी के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव के कल के बयान पर तंज था। कुल मिलाकर मोबाइल सज्जन का चोरी हुआ लेकिन कांग्रेस और बीजेपी को एक बार फिर आपस में वार प्रति वार करने का मौका मिल गया। हालांकि राहत यह रही कि मोबाइल खबर लिखते लिखते मिल भी गया।