नगरीय निकाय चुनाव : अधिकारियों को देनी होगी यह जानकारी, आयुक्त ने जारी किए निर्देश

इसी बीच आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास निकुंज कुमार श्रीवास्तव ने सभी अधिकारियों को निर्देश जारी कर कहा है कि पत्र जारीकर्ता अधिकारी का नाम, पदनाम और फोन नम्बर भी लिखें।

नगर निकाय चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। फरवरी का महिना आगे बढ़ते ही मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में एक बार फिर नगरीय निकाय चुनाव (urban body election) की सुगबुगाबट तेज हो गई है।  एक तरफ BJP और कांग्रेस (Congress) जोरों शोरों से तैयारियाों में जुटी है, प्रत्याशियों के नामों पर मंथन किया जा रहा है। वही दूसरी तरफ चुनाव आयोग (election Commissionभी वोटर लिस्ट (voter list) समेत अन्य कार्यों में जुटा हुआ है। इसी बीच आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास निकुंज कुमार श्रीवास्तव ने सभी अधिकारियों को निर्देश जारी कर कहा है कि पत्र जारीकर्ता अधिकारी का नाम, पदनाम और फोन नम्बर भी लिखें।

यह भी पढ़े… MP : गुना CSP का तबादला रद्द करने की मांग ने पकड़ा जोर, CM Helpline पर दर्जनों शिकायत

दरअसल,  आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास निकुंज कुमार श्रीवास्तव (Commissioner Urban Administration and Development Nikunj Kumar Srivastava) ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया है कि नगरीय निकायों से शासन एवं संचालनालय (Government and Directorate)आने वाले पत्रों में जारी करने वाले अधिकारी के हस्ताक्षर के साथ ही अधिकारी का नाम, पदनाम, फोन नम्बर एवं ईमेल एड्रेस (Email Address) भी लिखा जाय। इससे संबिंधित अधिकारी से संपर्क करने में सुविधा होगी।

गौरतलब है कि सामान्य प्रशासन विभाग (Department of General Administration) द्वारा भी इस संबंध में निर्देश जारी किये गए है।वर्तमान में प्रदेश के 407 नगरीय निकाय के लिए चुनाव होना है। इनमें से 307 निकाय का कार्यकाल दिसंबर 2020 में समाप्त हो चुका है।वही दावे आपत्तियों के लिए 15 फरवरी और मतदाता सूची में संशोधन के लिए 20 फरवरी तक का समय तय किया गया है।

यह भी पढ़े… Sex Racket : नेता जी के होटल में सेक्स रैकेट का खुलासा, वाट्सएप पर भेजी जाती थी लड़कियों की फोटो

बता दे कि हाल ही में वीसी के दौरान मध्य प्रदेश के निर्वाचन आयुक्त बीपी सिंह (Election Commissioner of Madhya Pradesh BP Singh) ने साफ कहा था कि 3 मार्च, 2021 को वोटर लिस्ट फाइनल हो जाएगी, जिसके बाद तुरंत चुनाव कराए जाएंगे। अब किसी भी हालत में चुनाव आगे नहीं बढ़ाए जाएंगे।वही निकाय चुनाव ईवीएम (EVM) और सरपंच के चुनाव मत पत्र से होंगे ।माना जा रहा है कि मार्च के पहले या दूसरे सप्ताह में तारीखों का ऐलान कर दिया जाएगा।