बेटी को दिया जन्म तो सास ने बीच सड़क पर पीटा, घर से निकला, थाने पहुंचा मामला

महिला की पहली डिलेवरी होने पर बच्ची ने जन्म लिया तो यह सास को गवारा नहीं हुआ। अस्पताल से बहू जब घर पहुंची तो उसके साथ मारपीट शुरू कर दी गई।जिसके बाद प्रसूता ने थाने में न्याय की गुहार लगाई है।

इटारसी, राहुल अग्रवाल। इस आधुनिक जमाने में कई लोगों की सोच आज भी रूढ़िवादी है। खासकर बेटी के जन्म को लेकर। सरकार बेटी बचाव को लेकर शासन स्तर पर तमाम प्रयास किए जा रहे है, लेकिन आज भी कई लोगों के लिए बेटियां बोझ मानी जाती है। जिसको लेकर बेटी और उसको जन्म देनी वाली मां को कई तरह मुश्किलों से गुजरना पड़ता है। ऐसा एक मामला सामने आया है इटारसी (Itarsi) से। एक महिला की पहली डिलेवरी होने पर बच्ची ने जन्म लिया तो यह सास को गवारा नहीं हुआ। अस्पताल से बहू जब घर पहुंची तो उसके साथ मारपीट शुरू कर दी गई। यहां तक कि उसे जब दिन भर खाना नहीं दिया और उसे घर से निकाल दिया।  जिसके बाद प्रसूता ने थाने में न्याय की गुहार लगाई है।

यह भी पढ़ें…प्यार में मिला धोखा, तो युवक ने खोली चाय की दुकान, नाम रखा “बेवफा चायवाला”, पढ़ें बैतूल के मंगल की कहानी

जानकारी के अनुसार शहर के पुरानी इटारसी क्षेत्र निवासी रानू नामक गर्भवती महिला की शासकीय अस्पताल में 19 जुलाई को डिलेवरी हुई थी, उसने लाड़ली को जन्म दिया। यह खबर उसकी सास अनुराधा को यह हजम नहीं हुई। और महिला के घर पहुंचते ही उसकी सास अनुराधा ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। हद तो तब हो गई जब उसे खाना भी नहीं दिया गया, उसे घर से भी निकाल दिया गया, तब पीड़ित बहू उसके क्षेत्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के घर पहुंच गई।

बतादें कि एक दिन पूर्व किसी तरह कार्यकर्ता ने पति को समझाइश देकर घर वापस कर दिया, लेकिन मंगलवार को उसे दिन भर भूखा रखा गया और शाम के समय उसे घर से बाहर कर रास्ते में पीटा, जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया। मारपीट से प्रताड़ित प्रसूता ने फिर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मदद ली। जहां कार्यकर्ता की मदद से पीड़िता ने थाने में शिकायत दर्ज करवाई। तो उन्होंने सिटी पुलिस को सूचना दी तब 100 डायल मौके पर पहुंचकर पीड़ित प्रसूता को सिटी थाना पहुंचाया।

नाबालिग है पति-पत्नी
एक ओर जहां बाल विवाह को रोकने के लिए प्रशासन अलर्ट रहता है। वहीं प्रसूता और उसका पति वैभव दोनों ही नाबालिग है। इनमें प्रसूता का जन्म 9 मार्च 2003 का है तो वहीं उसके पति वैभव का वर्मा का 1 जनवरी 2004 का है। जन्म तारीख के हिसाब से एक वर्ष पूर्व हुए विवाह के दौरान दोनों ही नाबालिग थे। लेकिन इसकी जानकारी किसी को नहीं हुई, बताया जा रहा है कि युवक ने अपने भाभी की बहन से प्रेमविवाह घर में ही किया था। जिसके बाद युवती ने 19 तारीख को एक बच्ची को जन्म दिया है।

यह भी पढ़ें… कानून के मास्टर बनेंगे कार्तिकेय, भावुक होकर जनता को दी जानकारी