कोल्ड वेव के बीच हार्ट अटैक से बचने के लिए जीवनशैली में करें ये बदलाव

सर्दियों के मौसम में दिल का खास ख्याल रखने की आवश्यकता होती है और यह जीवनशैली में कुछ स्वस्थ बदलाव करके किया जा सकता है।

सर्दियों का अपना आकर्षण होता है लेकिन साथ ही जब बात हृदय रोग और मधुमेह जैसी पुरानी स्वास्थ्य कंडीशन को मैनेज करने की आती है तो यह बेहद सावधान रहने का मौसम है। शरीर को गर्म रखने के लिए हमारे हृदय को ऑक्सीजन पंप करने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है। ठंड का मौसम आर्टरीज को भी श्रिंक कर देता है और इस प्रकार हृदय में रक्त और ऑक्सीजन का प्रवाह भी प्रभावित होता है और ब्लड क्लॉट्स बनने की संभावना बढ़ जाती है जिससे दिल का दौरा या स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।

सर्दियों में सक्रिय रहना काफी चुनौती भरा होता है और लोगों को अपने बिस्तर से उठकर जिम जाने में मुश्किल हो सकती है। कुछ अच्छे और हेल्थी बदलाव से दिल के स्वास्थय को शेप में रख सकते हैं 

नियमित एक्सरसाइज

सर्दियों के मौसम में हमें सबसे पहले जीवनशैली में बदलाव लाने की जरूरत है, वह यह है कि हमें अपना दैनिक व्यायाम करना जारी रखना चाहिए। व्यायाम, हालांकि, सुबह जल्दी नहीं किया जाना चाहिए, लेकिन थोड़ी देर बाद जब धूप हो क्यूंकिदिन के शुरुआती घंटे बेहद ठंडे होते है। व्यायाम बहुत महत्वपूर्ण है और सर्दियों के दौरान इसे जारी रखना चाहिए।  व्यायाम को गर्म कमरे में घर के अंदर करना भी चुन सकते हैं।

 टाले हाई शुगर डाइट 

सर्दियों में खाने में चीनी की मात्रा बढ़ा देना एक जानी-मानी आदत है। लोग गाजर का हलवा और गुलाब जामुन जैसी मिठाइयों का लुत्फ उठाना पसंद कर सकते हैं। इन मिठाइयों का सेवन कम से कम करना चाहिए और अधिक मात्रा में नहीं लेना चाहिए। नमक और चीनी दोनों का अधिक मात्रा में सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, और इसे कम करना चाहिए।

ज्यादा नमक से हो परहेज 

यह समझना महत्वपूर्ण है कि नमक की मात्रा को सीमित करना चाहिए। सर्दियों के मौसम में अकसर अधिक नमक वाला खाना खाने की आदत होती है। नमक का सेवन सीमित करना जरुरी है ताकि हम अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रख सकें। इसलिए, नमक की मात्रा को नियंत्रित करना महत्वपूर्ण है।

शराब को कहें ना

सर्दियों के महीनों में पार्टियों की संख्या बढ़ जाती है। शराब को हार्ट अररिथमीया ( इर्रेगुलर हार्टबीट )सहित कई महत्वपूर्ण मुद्दों में योगदान के लिए जाना जाता है।  हृदय स्वास्थ्य और स्वास्थ्य के अन्य पहलुओं पर इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। शराब का सेवन हो सके तो ना ही हो और अगर प्रस्ताव को टालना मुश्किल हो तो सेवन लिमिटेड मात्रा में ही करे