लव मैरिज के दुश्मन हैं ये चार ग्रह, जानिए उन्हें शांत करने के उपाय

इन सबके पीछे कुंडली में बैठे चार ग्रहों का खल होता है

लाइफस्टाइल,डेस्क रिपोर्ट। आपकी दिली ख्वाहिश है कि आप लव मैरिज (love marriage) करें। लव ऑफ लाइफ मिल भी गया है लेकिन शादी की बात होते होते अटक जाती है। कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो अपनी जिंदगी के प्यार को पा तो लेते हैं लेकिन ये रिश्ता लंबा नहीं चल पाता। इन सबके पीछे कुंडली में बैठे चार ग्रहों (planets) का खल होता है। जो तय करते हैं कि आपकी लव मैरिज होगी या नहीं। और, अगर हो गई तो कितनी कामयाब होगी।

यह भी पढ़े…आंख और नींद के लिए ही नहीं वजन के लिए भी नुकसानदायी है मोबाइल फोन, जानिए कैसे

कौन से हैं वो चार ग्रह?
प्रेम विवाह में मुश्किल खड़ी करने वाले ये चार ग्रह हैं शुक्र (Venus), गुरु (Jupiter) , बुध (Mercury) औऱ राहु (Rahu)। इन चारों ग्रहों में से किसी एक के भी कमजोर होने पर शादीशुदा जिंदगी में मुश्किलें आने लगती हैं। खासतौर से तब जब शादी लव मैरिज हो।

यह भी पढ़े…आम की गुठली को फेंके नहीं बनाए ये बटर, लगाते ही चमकती हुई नजर आएगी आपकी स्किन

ग्रहों से समझें लव मैरिज होगी या नहीं
ये चारों ग्रहों की स्थिति देखकर अंदाजा लगाया जाता है कि जातक लव मैरिज कर सकेगा या नहीं। इन ग्रहों के अलावा अगर पांचवां और छठवां भाव कमजोर होगा तो भी लव मैरिज होना मुश्किल ही होगा।

यह भी पढ़े…युवा कांग्रेस अध्यक्ष पर FIR, भूरिया के तेवर “अपन झुकेगा नहीं”

गुरू के उपाय करें (Guru Remedies)
गुरू के कुछ उपाय आपके प्यार के बीच आ रही मुश्किलों को दूर कर सकते हैं। हर महीने के शुक्ल पक्ष के गुरूवार को आप भगवान विष्णु और लक्ष्मी मां का पूजन करें। स्फटिक की माला से ॐ लक्ष्मी नारायण नम: मंत्र का जाप करिए।

यह भी पढ़े…MP News: पिछड़े वर्ग के आरक्षण को लेकर आई अपडेट! सरकार ने रिपोर्ट की सार्वजनिक, जाने रिपोर्ट

इस रंग के कपड़े पहनें
ज्योतिष में दिन के हिसाब से कपड़ों के रंग का भी महत्व है। आप ये ध्यान रखें कि आपको गुरुवार को पीले रंग के और शुक्रवार को सफेद रंग के कपड़े पहनना है।

यह भी पढ़े…Health Tips : पीली हल्दी की तरह गुणकारी है काली हल्दी, जाने इसके औषधीय गुण, स्वाद में भी उत्तम

आजमाएं ये उपाय
कुछ उपाय करने से भी लव मैरिज की मुश्किलें दूर हो सकती हैं। सबसे पहले शुक्र ग्रह की शांति का उपाय करें। अपने घर में शुक्र यंत्र की स्थापना करें। बीज मंत्र के साथ यंत्र का पूजन करें। शुक्र ग्रह की प्रिय वस्तुओं का दान भी करें और माता लक्ष्मी की आराधना करें।

अपनी कुंडली के पांचवे और सातवें भाव को मजबूत करने क लिए सुबह सूर्य देव को जल अर्पित करें। साथ में गायत्री मंत्र का जाप करें।

*Disclaimer :- यहाँ दी गई जानकारी अलग अलग जगह से जुटाई गई एक सामान्य जानकारी है। ये मुख्य रूप से आपके राशिफल के गुणों पर केंद्रित हैं, जरूरी नहीं कि उपरोक्त सभी लक्षण आपके लिए सही हों। MPBreakingnews इसकी पुष्टि नहीं करता है।