Health Tips: वेट लॉस के चक्कर में इन फूड्स से न करें तौबा, वजन घटाना होगा मुश्किल, कमजोरी भी होगी हावी

कोलीन सही मात्रा में होता है तो लिवर के आसपास फैट जमा करने वाले कुछ तत्वों को कम एक्टिव बनाता है।

Shashank Baranwal
Published on -
weight loss

Health Tips: कुछ लोगों के लिए अक्सर ऐसा होता है कि वो वेटलॉस के लिए ढेरों कोशिशें करते हैं। लेकिन कोई भी कारगर साबित नहीं होती। कुछ लोग कई-कई दिन तक उपवास रखते हैं, इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हैं। स्टार्विंग तक करते हैं। इसके अलावा बहुत सारी एक्सरसाइजेज भी करते हैं। उसके बावजूद उनका वजन कम नहीं होता। इसकी क्या वजह हो सकती है। ये वजह आपकी डाइटिंग में छुपी हो सकती है। कई बार डाइटिंग के चक्कर में लोग पोषक तत्वों को कंज्यूम करना भी भूल जाते हैं। इन पोषक तत्वों का बैलेंस गड़बड़ हो जाए तो वेट लॉस मुश्किल हो जाता है।

जानिए कौन-कौन से हैं वो पोषक तत्व

पोटैशियम की जरूरत

शरीर में पोटैशियम घटता है तो वजन बढ़ने लगता है। शरीर में पानी जमा होता है और ब्लोटिंग की परेशानी भी हो जाती है। पोटैशियम की वजह से शरीर की मसल्स भी मजबूत होती हैं। पोटैशियम की कमी को पूरा करने के लिए केला, आलू, साग, टमाटर, संतरा और अनार जैसी चीजें जरूर खाएं।

Continue Reading

About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।