गोल गप्पे खाने से हो सकती है “पानी पूरी डिजीज “, खतरनाक इंफेक्शन से पड़ सकता है पाला, जानिए बचने के तरीके

सरकार ने सभी से अपील की है कि इस मौसम में स्ट्रीट फूड खाने से बचें खासकर पानी पूरी से। डॉ राव ने पानी पूरी बेचने वालो को अपनी दुकान में साफ-सफाई रखने और साफ पानी का उपयोग करने को भी कहा है।

जीवनशैली, डेस्क रिपोर्ट। मानसून का दौर शुरू हो चुका है, और यह मानसून कई बीमारियां (seasonal infection) लेकर आया है और उसमें से एक है “पानी पूरी डिजीज”, तेंलगाना में पिछले कई दिनों से टाइफाइड बीमारी फैल रही है, और स्वास्थ विभाग ने पानी पूरी को जिम्मेदार ठहराया है। पब्लिक हेल्थ के निदेशक डॉ जी श्रीनिवास राव ने टाइफाइड को “पानी पूरी डिजीज” नाम दे दिया। आपको बता दें कि तेलगांना में मई के महीने में 2700 और जून के महीने में 2752 केस आये थे।

यह भी पढ़े… बारिश में इन खानों से बढ़ाएं बच्चों की इम्यूनिटी, कम होगा मौसमी इंफेक्शन का खतरा

सरकार ने सभी से अपील की है कि इस मौसम में स्ट्रीट फूड खाने से बचें खासकर पानी पूरी से। डॉ राव ने पानी पूरी बेचने वालो को अपनी दुकान में साफ-सफाई रखने और साफ पानी का उपयोग करने को भी कहा है। तेलंगाना में 6,000 से अधिक डायरिया के मामले आ चुके हैं और डेंगू के मामलों में भी बढ़ोत्तरी देखी जा रही है। इस मौसम में होने वाली बीमारियां जैसे मलेरिया, डायरिया, सर्दी, वायरल फीवर दूषित पानी और खाने की वजह से होती है।

कैसे जाने टाइफाइड है?

टाइफाइड एक गंभीर बीमारी है, जो दूषित पानी या खाना से शरीर में जाने वाले साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया की वजह से होती है, यह बैक्टीरियल इंफेक्शन फीवर है। शुरू में तेज बुखार, पेट में तेज दर्द, सिरदर्द, दस्त या कब्ज और भूख कम लगना इसके लक्षण है, इलाज न मिलने पर आपको खून में उल्टी, अंदरूनी ब्लीडिंग और स्किन पीली पड़ने की समस्याएं हो सकती हैं।

यह बीमारियां भी हो सकती हैं

मानसून में दूषित पानी या खाने से टाइफाइड और पीलिया जैसे बैक्टीरियल इंफेक्शन बढ़ जाते हैं। साथ ही मच्छरों की वजह से डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियां भी फैल सकती हैं।

यह भी पढ़े… OnePlus 10T भारत में होने जा रहा है लॉन्च, लॉन्चिंग डेट और कीमत का हुआ खुलासा, डिजाइन बना देगी आपको दीवाना

बीमारियों से खुद को कैसे बचा सकते हैं
हाइजीन करें मेंटेन

आपको पर्सनल हाइजीन का विशेष ध्यान रखना चाहिए, खाने से पहले, वॉशरूम यूज करने के बाद, बाहर से आने के बाद के बाद अच्छे से हाथ धोएं या सेनिटाइज करें। खांसते और छींकते समय मुंह को ढकें और आंख और नाक को बार-बार टच न करें।

पानी उबालकर पिएं

इस मौसम में साफ पानी ही पीएं, पीने से पहले पानी को अच्छी तरह उबाल लें। हमेशा पैक बोतल का पानी पीएं, दूषित पानी से आपको डायरिया जैसी बीमारी हो सकती है।

स्ट्रीट फूड ना खाएं

इस मौसम में स्ट्रीट फूड से दूरी बना लें, अगर आपका मन खाने को करता है तो आप इन्हें घर पर बनाकर खा सकते हैं।  स्ट्रीट फूड खाने से कई समस्याएं आ सकती हैं। कोशिश करें कि आप जो भी बनाए वह हेल्दी हो और हाइजीन मेंटेन करके बनाया गया हो।

मच्छरों को करें दूर

बारिश के मौसम में मच्छरों की वजह से डेंगू और मलेरिया हो सकता है, अगर आप मच्छरों को दूर करना चाहते हैं तो घर के खिड़कियां और दरवाजों को बंद रखें, सोने से पहले मच्छर भगाने की क्रीम लगाएं। घर की छतों, गमलों में पानी जमा न होने दे।

Disclaimer: इस खबर का उद्देश्य केवल शिक्षित करना है। कृपया कोई भी कदम उठाने से पहले विशेषज्ञों की सलाह जरूर लें।