Litchi Peels: लीची ही नहीं, इसके छिलके भी हैं गुणों का खजाना, इन 4 तरीकों से करें इस्तेमाल

लीची की तरह इसके छिलके भी सेहत के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। आप अलग-अलग तरीके से इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Litchi Peels Benefits

Litchi Peels Benefits: लीची को सेहत के लिए लीची को बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। इसमें विटामिन सी, पोटेशियम, एंटीऑक्सीडेंट और अन्य कई विटामिन और मिनरल मौजूद होते हैं। यह ब्लड शुगर लेवल को संतुलित रखने में मदद करता है। दिमाग, ब्लड प्रेशर, वजन और लीवर के लिए बेहद ही फायदेमंद होता है। इसके छिलके भी कई गुणों से भरपूर होते हैं। त्वचा के लिए ये किसी वरदान से कम नहीं है। लीची के छिलकों में भी एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इन्फ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं। हृदय और पाचन तंत्र के लिए इसे बेहद ही लाभकारी माना जाता है। आप अलग-अलग तरीकों से लीची के छिलकों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

हृदय और पाचन तंत्र के लिए ऐसे करें सेवन

लीची छिलकों को सुखाकर इसका पाउडर बनाकर सेवन करने से हार्ट और पाचन से जुड़ी समस्याओं का खतरा कम होता है। रोजाना एक चम्मच लीची के पाउडर को गुनगुने पानी में मिलाकर इसका सेवन करें। ऐसा करने से हृदय रोग की खतरा कम होता। पेट की चर्बी भी कम होती है। पाचन से जुड़ी समस्याएं भी कम होती है।

डार्क नेक के लिए ऐसे करें इस्तेमाल

यदि आपको डार्क नेक की समस्या है तो लीची के छिलके राहत दिला सकते हैं। इसके लिए लीची के छिलकों को पीसकर बेकिंग पाउडर, नारियल तेल, नींबू रस और हल्दी के साथ मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें। इस मिश्रण से प्रभावित क्षेत्र को मैसेज करें। ऐसा करने से डेड सेल्स बाहर निकलते हैं और असली रंग उभर कर आता है।

त्वचा पर निखार लाने के लिए

ग्लोइंग और हेल्दी स्किन पाने के लिए लीची के छिलकों से बने फेस स्क्रब का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसको बनाने के लिए लीची के छिलकों को सुखाकर दरदरा पीस लें। अब इसमें एलोवेरा जेल, चावल का आटा और गुलाब जल मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लें। इसे पूरे चेहरे पर इसे हाथों से मसाज करें। थोड़ी देर छोड़ने के बाद पानी से चेहरा धो लें।

सॉफ्ट और खूबसूरत एड़ियों के लिए करें ये काम

एड़ियों को साफ करने में भी लीची के छिलके आपकी मदद कर सकते हैं। इसके लिए लीची को दरदरा पीसकर इसमें बेकिंग सोडा, एप्पल साइडर विनेगर और मुल्तानी मिट्टी मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें। अब इस मिश्रण को एड़ियों पर लगाकर करीब 20 मिनट तक छोड़ दे। फिर एड़ियों अच्छे से रगड़कर साफ कर लें।

(Disclaimer: इस आलेख का उद्देश्य केवल सामान्य जानकारी साझा करना है, जो विभिन्न माध्यमों पर आधारित है। MP Breaking News इन बातों के सत्यता और सटीकता की पुष्टि नहीं करता। विशेषज्ञों की सलाह जरूर लें।)


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"