जिला अस्पताल में कोरोना पेशेंट की जान लेने की कोशिश, सोने के टॉप्स भी गायब

बेटा माँ के साथ हुई घटना से सदमे में है। उसका कहना है कि उनकी माँ की  कोशिश करने वाले दोनों सफाईकर्मियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाये।   

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कोरोना (Corona) में एक और जहाँ लोग सेवा कर मरीजों की जान बचा रहे हैं वहीं दूसरी ओर कुछ लोग आपदा में अवसर खोज रहे हैं और पैसों के लालच में मरीज की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। ग्वालियर के जिला अस्पताल मुरार (Gwalior District Hospital Morar) में एक ऐसा ही संगीन मामला आया है जिसमें एक कोरोना पेशेंट (Corona Patient) महिला का दो सफाईकर्मियों द्वारा ऑक्सीजन पाइप (Oxygen Pipe) निकालकर जान लेने की कोशिश की गई। इतना ही नहीं महिला के कान में पहने सोने के टॉप्स (Gold Tops) भी गायब हैं।

ग्वालियर के गुढ़ा क्षेत्र निवासी 49 साल की एक महिला जिला अस्पताल मुरार (Gwalior District Hospital Morar) के कोरोना वार्ड में भर्ती है। उनके बेटे दीपक के मुताबिक वे उनकी माँ की हालात बहुत सीरियस है वो ऑक्सीजन सपोर्ट (Oxygen Support) पर हैं डॉक्टर ने जवाब दे दिया है। रविवार रात को 11:15 बजे जब वे टॉयलेट के लिए बाहर आये तो सफाईकर्मी वहां आये और उन्होंने उनकी माँ का ऑक्सीजन पाइप (Oxygen Pipe) निकालकर नोब बंद कर उनकी जान लेने की कोशिश की।  जब वार्ड में मौजूद कुछ अटेंडरों ने टोका तो सफाईकर्मियों ने उन्हें डपट दिया। जब तो वो वार्ड में पहुंचा तो दोनों सफाईकर्मी को उसने पकड़ने की कोशिश की तो वे उसे धक्का देकर भाग गए।

 ये भी पढ़ें – नकली दवाई और इंजेक्शन का व्यापार कर रहे हैं, वह नर पशु, होगी सख्त कार्रवाई : सीएम शिवराज

दीपक जब माँ के पास पहुंचा तो उनकी सांस उखड़ रही थी। उसने तत्काल डॉक्टर को बुलवाकर ऑक्सीजन पाइप (Oxygen Pipe) लगवाया। दीपक ने बताया कि जब उसने माँ को ठीक से देखा तो उनके कान में पहने सोने के टॉप्स (Gold Tops) गायब थे। संभवतः सफाईकर्मी उसे चुराकर ले गए। उसने डॉक्टरों से शिकायत की लेकिन रात को कोई सुनवाई नहीं हुई।  सोमवार को दोपहर में दीपक ने लोगों के साथ अस्पताल में हंगामा किया और आरोपी सफाईकर्मी  राहुल और सोनू के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

 ये भी पढ़ें – मप्र के भाजपा विधायक जुगल किशोर बागरी का कोरोना से निधन, पार्टी में शोक लहर

दोपहर बाद दीपक मुरार थाने पहुंचा और उसने पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने मामला जाँच में ले लिया है  बताया जा रहा है कि पुलिस ने एक आरोपी  के भाई को उठा लिया लेकिन मुरार थाने के टीआई अजय पवार का कहना है कि अभी मामला जांच में हैं बयान दर्ज किये जा रहे हैं।  उधर जिला अस्पताल  के (Gwalior District Hospital Morar) आरएमओ डॉ विपिन गोस्वामी ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि मरीज के परिजन ने पुलिस में शिकायत की है। दोनों सफाईकर्मी अभी गायब हैं। यदि कोई भी दोषी पाया जाता है तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

बहरहाल जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही कोरोना मरीज को तो होश नहीं है कि उसके साथ क्या हुआ लेकिन उसका बेटा माँ के साथ हुई घटना से सदमे में है। उसका कहना है कि उनकी माँ की  कोशिश करने वाले दोनों सफाईकर्मियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाये।