बालाघाट : ऑनलाइन ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय गैंग के 8 आरोपी गिरफ्तार

8 लाख, कार्डलेस, मोबाईल, लैपटॉप, एटीएम और सिमकार्ड बरामद, नोएडा में बैठकर करते थे ठगी

बालाघाट, सुनील कोरे। बुजुर्गो को फर्जी कॉल करके उनके बैंक खातों से पैसे निकालने वाले एक अंतर्राज्यीय गैंग को पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ा हैं, पुलिस ने इस गिरोह के 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से 13 लाख रूपये का सामान बरामद किया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

यह भी पढ़े… हाईकोर्ट ने पंचायत चुनाव मामले में अंतरिम राहत से किया इनकार

हम आपको बता दें कि मलाजखंड थाने में बैहर निवासी महिला ने इंश्युरेस पॉलिसी म्युचुअल कराने के नाम पर सवा 6 लाख रूपये ठगी किये जाने की शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ 420 आईपीसी, 66सी, 66डी आईटी एक्ट के तहत अपराध कायम कर लिया था। पुलिस ने विवेचना के दोरान मिले मोबाईल साक्ष्य, बैंक दस्तावेज की मदद से उत्तरप्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, तेलंगाना सहित विभिन्न राज्यों में दबिश देकर लोगों से ऑनलाईन के माध्यम से सायबर फ्राड करने वाले आरोपियों को धर दबोचा।

यह भी पढ़े… 1 जनवरी 2022 से बदलेंगे Online Shopping के नियम, कार्ड पेमेंट को बनाएंगे और आसान, जाने डिटेल्स

8 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने मलाजखंड थाना अंतर्गत महिला से हुई सवा 6 लाख रूपये की ऑनलाईन ठगी की विवेचना के दौरान अंतर्राज्यीय सायबर फ्राड के आरोपियों गाजियाबाद जिले के बसुंदरा इंदरापुरम निवासी 25 वर्षीय मो. खुशरंग पिता मो. मुन्ना उर्फ कमरूल हसन, उत्तरप्रदेश गौतमबुद्ध नगर जिले के सोरखा निवासी 29 वर्षीय जितेन्द्र पिता रामलखन कुशवाह, हरियाणा रोहतक के आर्य नगर निवासी 29 वर्षीय रोहित कुमार उर्फ सहवारा पिता तुलसीराम आरव, राजस्थान नागौर के इंदौखा निवासी 28 वर्षीय मुकेश पिता सोहनलाल सौरठ, नोयडा गौतमनगर के बेगपुरा निवासी 31 वर्षीय राहुल कुमार पिता सुभाष उपाध्याय, उत्तरप्रदेश आगरा के खोहरी निवासी 21 वर्षीय लवकुश पिता देवेन्द्रसिंह कुशवाहा, उत्तरप्रदेश दांदरी निवासी 25 वर्षीय योगेन्द्र पिता जैनेन्द्र राघव और गाजियाबाद के खोडकाकॉलोनी निवासी 26 वर्षीय बाबू उर्फ कार्तिक पिता मेवाराम केवट को गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़े… प्रदेश के ट्राईबल बेल्ट को सिकल सेल एनीमिया मुक्त बनाने की परिकल्पना की इंदौर में हुई शुरुआत

पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने कहा कि रिटायर्ड स्टॉफ नर्स के एकाउंट से एलआईसी पॉलिसी के नाम से उड़ाये गये सवा 6 लाख रूपये की शिकायत की जांच के बाद पुलिस ने अंतर्राज्यीय ऑनलाईन ठगी के एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया हैं। जिसके बारे में पुलिस और पता लगा रही है कि आखिर इन्होंने कितने और लोगों को कहां-कहां ठगा है, वहीं विवेचना में पता चला है कि हाल ही के महिनो में दो से तीन एकाउंट में 53 लाख का ट्रांजेक्शन हुआ है, पुलिस इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है और इनका शिकार बने लोगों का पता लगा रही है, कुछ की जानकारी मिली है, जिन्हें शिकायत दर्ज करने कहा है।

यह भी पढ़े… online चाकू मँगवाने वालों की खैर नहीं, पुलिस ने कंपनियों को पत्र लिखकर ग्राहकों की मांगी लिस्ट

इन आरोपियों को गिरफ्तार करने में निरीक्षक सत्यनारायण भगत, उपनिरीक्षक जितेन्द्रसिंह जादौन, यतेन्द्र भदौरिया, शिव रघुवंशी, तरूण भाटी, एएसआई अयुब खान, प्रधान आरक्षक सनुक सैयाम, राजेश श्रीवास्तव, धरम मार्को, राजूसिंह मरावी, यमन धुर्वे, आरक्षक सुनील बघेल, रामेश्वर धुर्वे, संकेत नायक, दीपक पटेल, अजीत बैस, चांदनी शांडिल्य, धरम परमार एवं पंकज विष्ट का सराहनीय योगदान रहा है।