नर और गर्भवती तेंदुए का शव मिला, जहर देकर शिकार की आशंका, जांच में जुटा वनविभाग

बालाघाट, सुनील कोरे। जिले में लगातार वन्यप्राणी तेंदुए की मौत ने वन विभाग की चिंता बढ़ा दी है। पांच दिनों के अंतराल में तीन तेंदुओं की मौत ने वन्यप्राणियों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिये हैं। हालांकि बीते दिनस मिले मृत नर शावक और गर्भवती मादा तेंदुए के शरीर के सभी अंग सुरक्षित होने से भले ही वन विभाग इसे शिकार से जोड़कर नहीं देख रहा है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि संभवतः जहर देकर शिकारियों ने पहले शिकार किया फिर एक साथ दो तेंदुओं की मौत के बाद पकड़े जाने के डर से भाग निकले। वन विभाग ने दोनों तेंदुओं के शव का पोस्टमार्टम करवाकर प्रक्रिया अनुसार उनका अंतिम संस्कार कर दिया है और जांच में जुट गया है।

जिले में तेंदुए के शिकार के मामले आये दिन सामने आ रहे हैं। तीन दिनों पहले उत्तर उकवा वनपरिक्षेत्र के कटंगी बीट के भूरूक में एक तेंदुए का शव बरामद किया गया था। जिसका शिकार करके उसके शरीर के अंग निकाल लिए गये थे। वहीं शुक्रवार की शाम धापेवाडा सर्किल के अंतर्गत आगरवाडा बीट के प्लांटेशन में एक नर शावक और गर्भवती मादा तेंदुए का शव बरामद किया गया। दोनों वन्यप्रणियों का पंचनामा कार्यवाही कर वनविभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में पशु चिकित्सा विभाग के डॉक्टरों की टीम द्वारा उसका पोस्टमार्टम करवाया गया। जिसके बाद दोनों ही मृत तेंदुये के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। अब वनविभाग को पीएम रिपोर्ट का इंतजार है उसके बाद ही मौत के असल कारणों का पता लग पायेगा।

वनविभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों शव दो दिन पहले के है। दोनों तेंदुए आपस में आधा किलोमीटर की दूरी पर थे। तेंदुए के शव से किसी भी प्रकार के अंग नहीं निकाले गये हैं लेकिन दो तेंदुए के एक साथ शव मिलना शिकार की ओर इशारा कर रहा है। आशंका जताई जा रही है कि किसी ने मांस या अन्य खाद्य सामग्री में पाइजन मिलाकर तेंदुओ का शिकार किया होगा और डर की वजह से उसके अंग नहीं निकाले होंगे।

वनविभाग को बीते शुक्रवार की शाम बालाघाट रेंज के धापेवाडा सर्किल के अंतर्गत आगरवाडा बीट के मिश्रित प्लांटेशन में दो तेंदुये मृत हालत में पाये जाने की सूचना मिली थी। जिसके तत्काल बाद वन विभाग के अधिकारियों ने घटनास्थल पहुंचकर नर शावक और गर्भवती मादा तेंदुये का शव बरामद किया था। जिसमें नर शावक का शुक्रवार को पीएम करवाकर अंतिम संस्कार कर दिया गया। जबकि गर्भवती मादा तेंदुये के शव का 23 जनवरी को पीएम करवाकर अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

इनका कहना है
धापेवाडा सर्किल अगरवाड़ा बीट प्लांटेशन के पास एक नर शावक और एक गर्भवती मादा तेंदुए का शव मिला है। दोनों शव का शनिवार को पोस्टमार्टम कराया गया है। जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आ जाती, तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता। उधर, वनविभाग के द्वारा विभागीय मुखबिर तंत्र को इस पूरे मामले का पता लगाने के लिए कहा गया है। पीएम रिपोर्ट आते ही इस बात का खुलासा हो जायेगा कि दोनों तेंदुए की मृत्यु किस कारण से हुई है।
नरेंद्र कुमार सनोडिया, मुख्य वन संरक्षक