MP News : 28 पुलिस जवानों को मिली क्रम से पूर्व पदोन्नति, सीएम डॉ मोहन यादव बोले- आज का दिन ऐतिहासिक व गौरवशाली

स्वर्ग जैसी भूमि पर नक्सली गतिविधियां कतई बर्दाश्त नही की जायेंगी। इसका नमूना इसी वर्ष हॉकफोर्स के जवानों ने एक अप्रैल को लांजी के पितकोना क्षेत्र में दिखाया है। हॉकफोर्स और पुलिस के जवानों ने अपनी सक्रियता से नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ फेंकने में अपना शौर्य और पराक्रम दिखाया है।

Atul Saxena
Published on -
out of turn promotion

 MP News : मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने आज वेनगंगा नदी के तट पर स्थित बालाघाट की धरती पर शौर्य और पराक्रम के प्रतीक वीर जवानों के “क्रम से पूर्व पदोन्नति अलंकरण समारोह” में सहभागिता की और 28 वीर जवानों को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर शहीद वीर जवानों को पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि बालाघाट की धरती पर नक्सलवाद का दमन करने वाले जवानों का सम्मान करना मेरे लिए गर्व का विषय है

28 पुलिकर्मियों के कंधों पर फीते और स्टार लगाकर Out Of Turn Promotion 

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि प्रकति ने बालाघाट को विशेष वरदान दिया है। स्वर्ग जैसी भूमि पर नक्सली गतिविधियां कतई बर्दाश्त नही की जायेंगी। इसका नमूना इसी वर्ष हॉकफोर्स के जवानों ने एक अप्रैल को लांजी के पितकोना क्षेत्र में दिखाया है। हॉकफोर्स और पुलिस के जवानों ने अपनी सक्रियता से नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ फेंकने में अपना शौर्य और पराक्रम दिखाया है। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने 28 जवानों को शौर्य और पराक्रम प्रदर्शित करने के लिये उनके कंधों पर फीते और स्टार लगाकर क्रम-पूर्व पदोन्नति (Out Of Turn Promotion)  देकर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने पुलिस लाइन स्थित शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने जनप्रतिनिधियों के साथ बेल पत्र का पौधा भी लगाया।

आज का दिन ऐतिहासिक एवं गौरवशाली

मुख्यंमत्री डॉ. यादव ने शनिवार को बालाघाट में पुलिस विभाग के अलंकरण समारोह में सम्बोधित करते हुए कहा कि आज का दिन वास्तविक अर्थो में ऐतिहासिक दिन के साथ ही भारत माता को गौरवान्वित करने का भी दिन है। आज का दिन शौर्य, साहस, हिम्मत और पराक्रम को सार्थक करने वाले जवानों के सम्मान का दिन है। धन-धान्य व भूगर्भ संपदा से परिपूर्ण भूमि पर नक्सली/माओवादी ताकतों की नजर रही है। ऐसी ताकतों पर एक अप्रैल 2024 को की गई कार्रवाई पुलिस का कड़ा प्रहार है। समारोह का आयोजन हॉकफोर्स व पुलिस जवानों का क्रम से पूर्व प्रमोशन के लिए किया गया था।

पाँच वर्षो में 3 करोड़ 5 लाख के इनामी नक्सलियों पर प्रहार

मुख्यमंत्री डॉ.यादव ने नक्सली गतिविधियों पर अब तक हुई कार्रवाई के बारे में कहा कि पिछले 5 वर्षों में हॉकफोर्स और पुलिस के जवानों ने 19 नक्सलियों को मार गिराया है। जिन पर विभिन्न प्रदेशों में 3 करोड़ 5 लाख रुपये के इनाम घोषित थे। यह कार्यक्रम उन जवानों को याद और सम्मानित करने का भी दिन है, जिन्होंने कर्त्तव्य निर्वहन करते हुए अपना बलिदान दिया है। साथ ही क्रम से पूर्व प्रमोशन का आयोजन है। सरकार उन सभी के साथ खड़ी है, जिन्होंने हिम्मत और साहस के बल पर प्रदेश का मान बढ़ाया है।

भारत विश्व में तीसरा देश जो दुश्मनों के देश में घुसकर जवाब दे रहा है

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आज भारत विश्व का ऐसा तीसरा देश बन गया है, जो अपने देश में ही नहीं बल्कि दुश्मन देश की सीमाओं में घुसकर दुश्मनों को खत्म करने की ताकत रखता है। इजराइल और अमेरिका के बाद भारत तीसरा देश है। मुख्‍यमंत्री डॉ. यादव ने कार्यक्रम के पश्‍चात पुलिस जवानों के परिजनों के साथ समय बिताया। उन्‍होंने बच्‍चों को स्नेह व दुलार किया। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने जवानों के माता-पिता व दादा-दादी से आशीर्वाद लिया। साथ ही जवानों के परिजनों के साथ फोटो भी करवायें।

एके-47 रायफल जैसे घातक हथियार जब्‍त किये गये

कार्यक्रम के दौरान पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ ने स्‍वागत सम्‍बोधन में आयोजित रूपरेखा बतायी। साथ ही पुलिस महानिदेशक श्री सुधीर सक्‍सेना ने 1 अप्रैल 24 को लांजी में घटित हुई नक्‍सली घटना के बारे में विस्‍तार से बताया। उन्‍होनें कहा कि 32 वर्षो में पहली बार 1 अप्रैल को बढ़ी जवाबी कार्यवाही हुई, जिसमें 2 हार्डकोर नक्‍सली मारे गये। वहीं एके-47 रायफल जैसे घातक हथियार जब्‍त किये गये।

MP News : 28 पुलिस जवानों को मिली क्रम से पूर्व पदोन्नति, सीएम डॉ मोहन यादव बोले- आज का दिन ऐतिहासिक व गौरवशाली


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News