Betul में जन्मदिन मनाना पड़ा महंगा, 42 छात्रों पर चालानी कार्यवाही, कैफे 7 दिनों के लिए सील

कैफे में 42 कालेज छात्र जन्मदिन का जश्न मना रहे थे, तभी तहसीलदार ने पहुंचकर सभी पर 100-100 रुपये का जुर्माना लगा दिया और कैफे मालिक पर भी 2000 जुर्माना लगाया गया वही कैफे को 7 दिन के लिए सील कर दिया गया।

बैतूल, वाजिद खान। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल (Betul) में कॉलेज के छात्रों को कोरोना काल में जन्मदिन मनाना महंगा पड़ गया। जैसे ही जन्मदिन पार्टी (Birthday party) की सूचना एसडीएम (SDM) और तहसीलदार को लगी तो तत्काल प्रभाव से अधिकारी मौके पर पहुंचे और फिर क्या था, लगा दिया 42 छात्रों पर 100-100 रुपये का जुर्माना। वही तहसीलदार ने कैफे संचालक के ऊपर भी 2000/- का जुर्माना लगाया गया और कैफे को 7 दिन के लिए सील कर दिया गया।

यह भी पढ़ें….Dabra News : पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष ने की CMO से अभद्रता,शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज

गौरतलब है कि बैतूल के शाहपुर में मंगलवार को एक कॉफी हाउस में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर जन्मदिन मना रहे कालेज छात्रों एवं संचालक पर एसडीएम और तहसीलदार ने कार्रवाई की है। एसडीएम ने 7 दिन के लिए होटल को सील भी कर दिया है। वही संचालक पर ₹2000 का जुर्माना भी लगा है। इसके साथ ही जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने वाले 42 छात्रों पर 100 रुपये का जुर्माना लगाया है।

Betul में जन्मदिन मनाना पड़ा महंगा, 42 छात्रों पर चालानी कार्यवाही, कैफे 7 दिनों के लिए सील

तहसीलदार वैधनाथ वासनिक का कहना है कि शाहपुर के एक कैफे एंड फैमिली रेस्टोरेंट में कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर जन्मदिन पार्टी मनाई जा रही थी । जिसकी सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे और इस दौरान जन्मदिन की पार्टी मनाते 42 लोग मिले सभी पर चालानी कार्यवाही की गई है। इसके साथ ही होटल के संचालक रोहित आहाके पर ₹2000 की चालानी कार्यवाही की गई। वहीं शामिल हुए लोगों पर 100 -100 रुपए की चालान कार्यवाही की गई है। कार्यवाही के दौरान एसडीएम अनिल सोनी भी मौजूद थे।

बतादें कि बैतूल में भी कोरोना संक्रमण के मामले काफी बढ़ गए हैं, बैतूल प्रशासन के द्वारा कोरोना से बचाव के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। जिसके चलते जिन स्थानों पर संक्रमण फैलने की ज्यादा संभावना है वहां पर भी प्रशासन की पूरी पैनी नजर है और इन्हीं सब के मद्देनजर तहसीलदार और एसडीएम ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया क्योंकि अगर इन 42 छात्रों में से कोई एक भी बाद में कोरोना पॉजिटिव पाया गया तो सीधे पूरे 42 छात्रों पर कोरोना संक्रमण का खतरा मंडराने लगेगा। जिससे स्थिति और भी बिगड़ सकती है।

यह भी पढ़ें….Katni News: कटनी कलेक्टर का बड़ा फैसला- निगम सीमा क्षेत्र में आज से नाइट कर्फ्यू