Betul : लापता युवक की मिली लाश, परिजनों ने लगाए हत्या के आरोप

बैतूल थाना कोतवाली का यह मामला है जिसमें एक महिला सहित 2 आरोपी हिरासत में लिए गये है।

बैतूल, वाजिद खान। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल (Betul) का एक युवक 11 दिन से लापता था। बैतूल कोतवाली पुलिस ने उस युवक लाश बरामद की है। वहीं युवक के परिजनों ने कुछ लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। जिसके बाद पुलिस ने एक महिला समेत दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। वहीं शव को कब्जे में लेकर आगे की जांच में जुट गई है।

यह भी पढ़ें…बड़ी राहत : इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की लास्ट डेट बढ़ी, जानिए क्‍या है नई तारीख

युवक की लाश को लेकर आशंका है कि युवक की हत्या कर उसकी लाश को टेलीफोन की नाली में दफना दिया गया था । पुलिस एसडीएम की अनुमति के बाद लाश निकलवा कर पोस्टमार्टम करवा रही है। इस मामले में फिलहाल एक महिला समेत दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक कंपनी गार्डन आर्य पुरा निवासी युवक अक्षय की कल झगडया के पास लाश मिली थी। जिसे आज निकलवा कर पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। परिजनों से इस लाश की तस्दीक करवाई जा रही है। मालूम हो कि अक्षय पिछले 26 मई से लापता था। जिसको ढूंढने के लिए परिजन यहां-वहां भटक रहे थे। उन्होंने कोतवाली पुलिस के अलावा पुलिस अधीक्षक बैतूल से भी अक्षय को ढूंढने की गुहार लगाई थी।

परिजनों ने लगाए हत्या के आरोप
अक्षय के बड़े भाई का कहना है मेरे छोटे भाई संजू को पुष्पा खातिरकर और गुड्डू गरम ने मेरे भाई की हत्या की है। जिसमें एक अन्य व्यक्ति टीनू भी शामिल है। तीनों ने मेरे भाई को फांसी दी है। और यहां गाड़ दिया है। परिजनों के मुताबिक भारती निवासी पुष्पा के घर अक्षय भारत आता जाता रहता था। पिछले 26 मई की रात वह घर से निकला था। लेकिन फिर वापस नही लौटा। परिजनों ने बताया था कि अक्षय उर्फ़ संजू अपने दोस्त प्रदीप मंडल, मनीष जोगलेकर के साथ गया था। उसी रात उसका वहां किसी से झगड़ा हो गया था। इस झगड़े के बीच दोनो युवक भाग गए थे। डर की वजह से दोनो ने इस झगड़े का जिक्र किसी से नहीं किया। जब परिजन 27 मई को अक्षय को ढूंढने गए तब उन्हें इस झगड़े की जानकारी मिली। जिसके बाद उन्होंने पूरे मामले की शिकायत कोतवाली पुलिस को की थी। एसपी बैतूल को सौपे गए पत्र में परिजनों ने बताया कि जब वे कोतवाली पहुंचे थे तो अक्षय का फोन दो मिनट के लिए ऑन हुआ था। जिसे अन्य किसी व्यक्ति ने रिसीव कर कहा था कि वे घोड़ाडोंगरी में है और 2 घंटे में आ रहे है। इसी वजह से कोतवाली पुलिस ने इस मामले में कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं की।

बैतूल टीआई संतोष पन्द्रे ने जानकारी देते हुए बताया कि 28 मई को अक्षय की लापता होने की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई थी। जिस पर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर जांच की गई। और आज दो संदिग्धों से घटना के बारे में पूछताछ की गई। और उनकी निशानदेही पर अक्षय के शव को बरामद किया गया है। पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल बैतूल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें…Fraud: मंत्री के फर्जी OSD ने महिला अधिकारी से ठगे हजारों रुपए, ये है पूरा मामला