पुलिस का दिखा मानवीय चेहरा ,घंटो पड़ी लाश को उठाने टीआई और सैनिक ने पहनी पीपीई किट

बैतूल, वाजिद खान। जिला पुलिस का मानवीय चेहरा देखने को मिला । घंटो से पड़ी लावारिस लाश को उठाने जब स्वास्थ्य विभाग की टीम नहीं आई तो खुद पुलिस ने पीपीई किट पहन कर लाश उठा कर अस्पताल के मरचुरी में पहुचाई और वहां खुद लाश उतारकर फ्रीजर में रखी । बैतूल शहर के गंज इलाके में एक अज्ञात व्यक्ति की लाश पड़ी थी, जिसे देखकर यहां दुकानदारों और यहां से गुजरने वाले लोगों में दहशत थी कि मृत व्यक्ति को कोरोना संक्रमण न हो करीब डेढ़ घण्टे यहां लाश पड़ी रही लेकिन स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां नहीं पहुंची किसी ने भी लाश को उठाकर अस्पताल पहुंचाने की हिम्मत नहीे जुटाई ।

इसी बीच कोतवाली पुलिस और गंज पुलिस यहां पहुंची और कोतवाली टीआई अनिल कुमार पुरोहित और होमगार्ड सैनिक अमित मौर्य ने हिम्मत दिखाई, इन दोनों ने पीपीई किट पहनी और सबसे पहले लाश को प्लास्टिक में लपेटा उसके बाद एक ऑटो में शव को रखकर जिला अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए ले गए|

बताया जा रहा है कि मृतक भैसदेही का रहने वाला है लेकिन वह मानसिक विक्षिप्त भी है और शराबी था। दिन भर शराब पीकर पूरे बाजार में घूमते रहता था । आज उसकी लाश गंज चौक पर पड़ी मिली । मृतक का कोरोना सेम्पल होगा और अगर वो निगेटिव निकलेगा तो पोस्टमार्टम किया जाएगा कि उसकी मौत कैसे हुई ।

कोतवाली टीआई अनिल पुरोहित का कहना है कि बॉडी का पता नहीं कि कौन मरा और कैसे मरा।  दिन में डेड बॉडी मिल रही है तो परिस्थितियां अनुकूल नहीं लगती है।  यहां कोरोना पॉजिटिव मामले बहुत ज्यादा है। जब सूचना मिली तो मैं और गंज टीआई ट्रैफिक इंचार्ज सहित स्टाफ पहुंचा और जो भी आवश्यक सावधानी है थी वो पूरी करके पीपीई किट पहनकर लाश उठाई और स्वास्थ्य विभाग को कंट्रोल रूम और ट्रैफिक पुलिस ने सूचना दी गई।