बैतूल, वाजिद खान| मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) के बैतूल (Betul) में ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) की बड़ी लापरवाही सामने आई है। कंपनी ने बैतूल के एक कस्टमर को 2000 रुपए के ब्लूटूथ हैंडसेट की जगह 89 रुपए की दवा भेज दी। कस्टमर अब अपनी रकम पाने के लिए कस्टमर केयर से लेकर तमाम जगह भटक रहा है।

बैतूल के रितेश नामदेव ने ऑनलाइन कंपनी फ्लिपकार्ट से ओप्पो M301 कंपनी का ब्लूटूथ हैंडसेट आर्डर किया था। कंपनी ने गणतंत्र दिवस के मौके पर इसकी सेल शुरू की थी। जिस के झांसे में आकर रितेश ने कंपनी का ब्लूटूथ हैंडसेट आर्डर कर दिया। कंपनी पर भरोसा करते हुए रितेश ने इसकी रकम भी कंपनी के खाते में डाल दी। कंपनी की सेल के तहत 2000 रुपए का यह ब्लूटूथ हैंडसेट ₹1875 में मिल रहा था। जिसका ऑनलाइन भुगतान भी रितेश ने कर दिया। आज जब कंपनी ने यह कंसाइनमेंट रितेश के पास भेजा और जब उसे खोला गया तो वह भौचक्के रह गए। कंपनी ने जो बॉक्स भेजा था उसमें ब्लूटूथ की जगह ₹89 कीमत की एक दवा की शीशी निकली। खास बात यह है कि कंपनी ने इस कंसाइनमेंट में जो दवा भेजी है उसे बगैर डॉक्टर की सलाह के लिया ही नहीं जा सकता है। ENGEL -D नाम की दवा शेड्यूल ड्रग की श्रेणी में आती है। इसे बगैर डॉक्टर की सलाह के नहीं लिया जा सकता है ।

रितेश ने बताया कि उन्होंने कंपनी की इस लापरवाही को लेकर कस्टमर केयर में शिकायत की है। उन्होंने भेजे गए बॉक्स को रिफंड करने को कहा है । उन्होंने यह भी कहा है कि अगर अगर उन्हें लगता है कि कंपनी की तरफ से लापरवाही हुई है तो वह लीगल एक्शन भी ले सकते हैं। रितेश के मुताबिक फ्लिपकार्ट FLIPKART जैसी प्रतिष्ठित कंपनी की इस लापरवाही से ग्राहकों का विश्वास टूट रहा है.. वे चाहते हैं कि लोग इसे लेकर जागरूक हो ..उन्होंने बताया कि कंपनी अपने प्रोडक्ट को जल्दी उपलब्ध कराने के लिए आसपास पैकिंग सेंटर तैयार करती है.. इन पैकिंग सेंटरों पर इस तरह का फर्जीवाड़ा किया जाता है .कंपनी को चाहिए कि पैकिंग सेंटरों की व्यवस्था दुरुस्त करे।

Flipkart से बुलवाया था दो हजार का हेडसेट, कंपनी ने भेज दी 89 रुपए की दवाई