नगर पालिका कर्मचारी ने की खुदकुशी, आत्महत्या से पहले बनाया वीडियो, पत्नी उसकी बहनों और सास पर गंभीर आरोप

Atul Saxena
Published on -

Bhind municipality employee commits suicide : भिंड नगर पालिका परिषद में पदस्थ कर्मचारी ने आज आत्महत्या कर ली,  खुदखुशी की खबर जैसे ही नगर पालिका कार्यालय से बाहर आई वहां हडकंप मच गया। मृतक तहसीलदार वर्मा चौकीदार के पद पर तैनात था। रात को वो ड्यूटी पर भी आया था उसने आत्महत्या करने से पहले वीडियो भी बनाया और जहरीला पदार्थ खाने से पहले परिजनों को सूचना भी दी, वीडियो में उसने पत्नी, उसकी दो बड़ी बहनों और सास पर गंभीर आरोप लगाये हैं।

नपा कर्मचारी ने की आत्महत्या, सुसाइड से पहले बनाया वीडियो वायरल  

भिंड में सोशल मीडिया पर वायरल ही एक वीडियो से हडकंप मच गया , ये वीडियो नगर पालिका में पदस्थ मास्टर कर्मचारी तहसीलदार वर्मा का था जिसे उसने आत्महत्या से पहले बनाया था, वीडियो में आँखों पर चश्मा लगाये और गले में साफी डाले  तहसीलदार ने अपनी पारिवारिक परेशानी का जिक्र किया है।

वीडियो में पत्नी, उसकी दो बहनों और सास पर गंभीर आरोप 

उसने जहरीला पदार्थ खाने से पहले बनाये वीडियो में पत्नी, उसकी दोनों बड़ी बहनों और सास पर उसके सुखी संसार को उजाड़ने का आरोप लगाया, नपा कर्मचारी ने विस्तार से अपनी बात बताई उसने कहा कि उसकी पत्नी उसे छोड़कर ग्वालियर चली जाती है कई कई महीनों तक नहीं आती है मेरे दो बेटी और एक बेटा है उसे भी छोड़ जाती है, ये सब चाहते हैं कि मैं मर जाऊं, और इन्हें नौकरी पैसा मिल जाये।

पुलिस मामले की जाँच में जुटी 

वीडियो बनाने के बाद आत्मघाती कदम उठाने से पहले तहसीलदार वर्मा ने अपने बड़े भाई को फोन पर सूचना दी लेकिन जब तक उसका बड़ा भाई नगर पालिका कार्यालय पहुँचता तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। सूचना के बाद सिटी कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।  वायरल वीडियो की एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता …

नगर पालिका कर्मचारी ने की खुदकुशी, आत्महत्या से पहले बनाया वीडियो, पत्नी उसकी बहनों और सास पर गंभीर आरोप
मृतक तहसीलदार वर्मा

About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News