भिंड पुलिस ने गार्ड से बंदूक लूट के चारों आरोपियों को किया गिरफ्तार

गिरफ्तार आरोपीगणों से अन्य लूटों के सम्बन्ध में पूछताछ की जा रही है।

भिंड, सचिन शर्मा। जिले में अपराधों की संख्या तेजी से बढ़ रहे है करीब एक महीने पहले बदमाशों ने बंदूक लूट की वारदात को अंजाम दिया जिसके आरोपियों को पुलिस ने आज पकड़ लिया है। बताया जा रहा है कि इस वारदात में चार आरोपी शामिल थे जिनमें से तीन लोगों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया था। बंदूक लूट की वारदात के बाद बदमाशों ने चौथे बदमाश को डेढ़ लाख में सामान बेचना बताया। अब पुलिस ने चारों बदमाशों को पकड़ लिया।

यह भी पढ़े…मंदसौर : हत्या का आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा कई दिनों से था फरार

हम आपको बता दें कि बदमाशों ने एक महीने पहले कटारे वाली गली भिण्ड से होण्डा एजेंसी के गार्ड से लूट की गई थी सिक्योरिटी गार्ड प्रदीप शर्मा पुत्र रामेश्वर दयाल शर्मा जो रंजना नगर में रहता हैं, खबर है कि वे वारदात दिनांक को रात के समय हर रोज की तरह शिवम मोटर्स के मालिक विनोद शिवहर के साथ चार पहिया वाहन से गल्ला मंडी स्थित निवास पर छोड़ा, वहां से अपने घर रंजना नगर के लिए जा रहा था। तभी दो बाइक वाले पीछे से आ गए, गार्ड उन दोनों बाइकों को निकलने के लिए अपनी साइकिल को साइड से करके चलाते हुए जा रहे थे। तभी बाइक जैसे ही साइकिल के नजदीक आई और तभी जोर से सिर पर डंडा मारा। सिर में डंडा लगते ही साइकिल सवार गार्ड प्रदीप जमीन पर गिर पड़ा और बदमाश बंदूक लूट कर भाग गए। और दोनों बाइकों पर चार लोग सवार थे। अंधेरा होने की वजह से गार्ड ज्यादा कुछ देख नहीं सका। इसके बाद स्थानीय लोगों को वारदात की सूचना दी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायल गार्ड को अस्पताल में भर्ती कराया और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी।

यह भी पढ़े…‘बसपन का प्यार मेरा भूल नहीं जाना’ गाने वाले सिंगर सहदेव का हुआ एक्सीडेंट, अस्पताल में भर्ती

दरअसल, वहीं ब्लाक कालोनी के सामने बाई पास रोड भिण्ड पर एक महिला के साथ लूट हुई जिसका खुलासा आज पुलिस ने किया बताया जा है कि रायफल मय कारतूसों तथा महिला से लुटे गए दो मोबाईलों मे से एक मोबाईल व नगदी बरामद कर ली है और चार आरोपीगणों को गिरफ्तार कर लिया गया है गिरफ्तार आरोपीगणों से अन्य लूटों के सम्बन्ध में पूछताछ की जा रही है। पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा लूट के अपराध पर तीन-तीन हजार का ईनाम घोषित किया गया था।

यह भी पढ़े…अनाथ बच्ची को फ्रांस की इंजीनियर महिला ने लिया गोद, तीन साल की उम्र में सड़क पर छोड़ दिया था किसी ने

इस घटना के खुलासे में थाना प्रभारी रामबाबू सिंह यादव उनि शिवप्रताप, उनि बीरेन्द्र यादव, उनि रामशरण शर्मा, उनि कौशलेन्द्र गुर्जर, उनि विजय शिवहरे, सउनि सत्यवीर प्रआर गुरूदास, प्रआर सोनेन्द्र, प्रआर मृगेन्द्र प्रआर राजेश प्रआर चतुर सिंह, प्रआर महेश, प्रआर सतेन्द्र . आर सुभाष रायसिंह, सन्दीप, अनूप, बृजनन्दन, रवि, सुमित, दीपक, ज्ञानेन्द्र मिश्रा, देवेन्द्र राहुल यादव की सराहनीय भूमिका रही।