बीजेपी नेता रमेश दुबे ने शहर में जलभराव को रोकने के लिए कलेक्टर को लिखा पत्र

भिंड, डेस्क रिपोर्ट। बीजेपी नेता डॉ रमेश दुबे ने बरसात के कारण होने वाली दुर्दशा की ओर ध्यान दिलाया है। भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ रमेश दुबे ने जिलाधीश डॉ सतीश कुमार जो कि नगरपालिका प्रशासक भी हैं, को पत्र लिख कर बरसात से ही हुई दुर्दशा की तरफ ध्यान आकर्षित किया है। इसी के साथ उन्होने जिलाधीश से शहर में हुए जलभराव की ज़िम्मेदारी तय करते हुए प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की मंशा अनुरूप चल रहे स्वच्छ भारत अभियान में बाधाकारी लोगो के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह भी किया है।

नरोत्तम का राहुल पर तंज, “फोन टेप हुआ होता तो पता चल जाता वे अचानक कहां गायब हो जाते हैं”

डॉ रमेश दुबे ने जिलाधीश को पत्र प्रेषित कर याद दिलाया है कि पिछले दिनों क्राइसिस कमेटी की जो मीटिंग हुई थी उसमें सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया, नगरीय प्रशासन मंत्री ओपीएस भदौरिया, सांसद संध्या राय भी उपस्थित थे। उसी वर्चुअल मीटिंग में उनके द्वारा जिला प्रशासन को अवगत कराया गया था कि बरसात के मौसम में जलभराव होगा, क्योंकि शहर के नाले और नालियों को साफ नहीं किया गया है। लेकिन ध्यान आकर्षित करने और समस्या को उठाने के बाद भी बड़े नाले साफ नहीं किये गए। इसका परिणाम ये हुआ कि पिछले दो दिन की थोड़ी सी बारिश में ही पूरे शहर में जल भराव हो गया है। डॉ दुबे ने अपने पत्र में स्पष्ट किया है कि जगह जगह कीचड़ पसरा है, बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ चुका है। उन्होने कहा कि बड़े आश्चर्य की बात है नगरपालिका सीमा क्षेत्र के लिए काफी बड़ी मात्रा में मशीनरी लगी है जिसका सदुपयोग होना चाहिए जिससे आम लोगों को सुविधा मिले और देश में चल रहे स्वच्छ भारत अभियान की मूल भावना के चलते आम लोगों के हित मे कार्य हों। इसके अलावा जो भी इस अभियान में बाधक हैं उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने का आग्रह भी पत्र में किया गया है।

उन्होंने पत्र में कहा है कि जिन ठेकेदारों ने शहर की नई नालियों के नालों के निर्माण के ठेके लेकर समय पर कार्य को सम्पन्न नही किया है उनके ठेके निरस्त करने की कार्यवाही होने की जरूरत है। शहर के कलेक्ट्रेट परिसर अवंतीबाई चौराहा, लहार रोड, नाबाद बाग, अटेर रोड, बरुआ नगर, वाटरवर्क्स, हनुमान बजरिया किला रोड, वनखण्डेश्वर मन्दिर रोड, रेखा नगर, दुर्गा नगर, कुशवाह कॉलोनी, पुलिस लाइन आवासीय एरिया इन महत्वपूर्ण इलाकों में मात्र दो दिन की बरसात में जल भराव हो गया है। जल भराव से नलों से आने वाला पीने का पानी भी गंदा आ रहा है अमृत योजना, सीवर लाइन के कारण पूरे शहर की गली गली भी खुदी पड़ी है। अब जब जल धीरे धीरे निकल रहा है तो कीचड़ के कारण दुर्गन्ध आ रही है तथा बीमारियां फैलने की स्थिति बन रही है। यह कोरोना महामारी का समय है ऐसे में सफाई व्यवस्था अगर सही नही रखी गई तो कोरोना के साथ साथ अन्य बीमारियों के फैलने से बच्चे, महिलाओं, बुजुर्गों सहित हर नागरिक रोगी हो जाएगा और स्थिति बिगड़ने की पूरी संभावना है।

डॉ दुबे ने पत्र में समस्या के समाधान के लिए बताया है कि शहर की स्थिति भयावह न हो और शहर में साफ सफाई शीघ्र हो इसके लिए शहर को चार भागों में बांटकर कार्यो की मॉनिटरिंग करवाने का काम होना चाहिए। इसके लिए चारों भाग में कार्य शीघ्र और उचित तरीके से सम्पन्न हो इस हेतु अधिकारियों को तैनात किया जाए। जिससे आम नागरिकों को बीमारियों से मुक्ति मिले और वह बरसात के कारण हुए जलभराव और गन्दगी से फैलने वाली बीमारियों से बचा रह सके। भाजपा प्रदेश कार्य समति सदस्य डॉ रमेश दुबे ने जिलाधीश से आग्रह किया है कि इस ओर आवश्यक रूप से ध्यान देकर जलभराव को रोका जाए और जो लोग भी स्वच्छ भारत अभियान की भावना के विपरीत कार्य कर रहे है उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाए।