भिण्ड।गणेश भारद्वाज

मध्यप्रदेश भिण्ड में हाल ही में भारौली थाना प्रभारी बनाये गए एसआई बाल्मीकि चौबे का सामान लेकर मुरैना से आ रही लोडिंग गाड़ी में शार्ट सर्किट होने से अचानक आग लग गई। जिससे गाड़ी में रखा लाखों का सामान जलकर खाक हो गया। सूचना देने पर पास के कस्बे मौ से से फायर ब्रिगेड तब पहुंची जब तक सामान और गाड़ी जलकर खाक हो गया था।

घटना बीती रात को जिले के मौ थाना क्षेत्र के अंतर्गत दंदरौआ मंदिर के पास की है। बाल्मीकि चौबे पहले भी जिले के थानों में पदस्थ रह चुके हैं हाल ही में मुरैना जिले से उनका स्थानांतरण भिंड हुआ था। अभी तो रोज पहले पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह के द्वारा उन्हें भारौली थाने की कमान सौंपी गई थी। यहां हम बता दें कि बरौली थाना सिंध नदी के समीप पड़ता है और यह थाना क्षेत्र अवैध रेत उत्खनन के लिए बदनाम है बताया जाता। है कि यहां पर थानेदार की पदस्थापना होना बड़े चमत्कार की बात होती है। लोगों का कहना है कि यहां जिस थानेदार की एक बार पदस्थ ही हो जाती है वह फिर पैसे के लिए कभी परेशान नहीं होता है।

जिले के सबसे कमाऊ थानों में से एक भारौली थाना क्षेत्र अवैध रेत उत्खनन के चलते बन गया है हालांकि 10 से 15 वर्ष पूर्व इस दूरस्थ थाने में कोई भी पुलिसकर्मी जाने के लिए तैयार नहीं होता था और यदि जाता था तो वह सजा के तौर पर जाता था लेकिन जब से रेत का अवैध कारोबार चालू हुआ है सबसे इस थाने में रहने वाले चपरासी से लेकर थानेदार साहब की बल्ले-बल्ले रहती है।