कोरोना को हराएगा आयुर्वेद, 1 करोड़ परिवारों तक काढ़े के पैकेट पहुंचाएगी सरकार

भोपाल| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना (Corona) को हराने सरकार (Shivraj Government) कई प्रयास कर रही है| एक तरफ जहां राज्य में इस महामारी का इलाज प्लास्मा थेरेपी (plasma therapy) से शुरू किया गया है| वहीं अब सरकार शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने की दिशा में नई योजना लेकर आई है| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने आज मंत्रालय में जीवन देने वाली “जीवन अमृत योजना” (Jeevan Amrit Yojana) का शुभारंभ किया| इस योजना के तहत 1 करोड़ काढ़े के पैकेट सरकार लोगों तक पहुंचाएगी|

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बताया इस योजना के माध्यम से आयुर्वेद की शक्ति का उपयोग करेंगे और प्रदेश के लोगों के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का उपाय करेंगे। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी, तो कोरोना के साथ – साथ शरीर अन्य संक्रमण से भी लड़ने में सक्षम होगा। इसके लिए हमें अपने आयुर्वेद की शक्ति का भरपूर दोहन करना है।

सीएम ने बताया आयुर्वेद औषधि त्रिकूट चूर्ण, जिसे हम सामान्य भाषा में काढ़ा कहते हैं। यह काढ़ा छोटे पीपल, सोंठ और काली मिर्च को समान अनुपात में कूटकर बनाया जा सकता है। इसको तुलसी की पत्तियों के साथ उबालकर पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। इस उपयोगी काढ़े के एक करोड़ पैकेट को स्थानीय निकायों के कर्मचारियों और जनप्रतिनिधियों के माध्यम से वितरित किया जाएगा। सीएम ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले काढ़े का उपयोग अवश्य करें और कोरोना एवं अन्य संक्रमण से स्वयं को बचाने के लिए अपने शरीर को सक्षम बनाएं।