बड़ी राहत : अब कोरोना पॉजिटिव गैर आयुष्मान मरीजों का भी खर्च उठाएगी एमपी सरकार

3D illustration of Coronavirus, virus which causes SARS and MERS, Middle East Respiratory Syndrome

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। अब कोरोना के गैर आयुष्मान मरीजों (Non ayushman patients) का खर्च भी एमपी की शिवराज सरकार (Shivraj Sarkar) उठाएगी।वही अनुबंधित कोविड अस्पतालों में भी फ्री इलाज मिलेगा, इसके लिए अस्पताल से डिस्चार्ज होते समय एडमिट होने की जानकारी देनी होगी ।

दरअसल, स्वास्थ्य संचालनालय के अफसरों ने बताया कि अनुबंधित निजी कोविड अस्पतालों में आयुष्मान में पंजीकृत और गैर पंजीकृत कोरोना मरीजों का नि:शुल्क उपचार होगा। राज्य सरकार ने यह व्यवस्था कोविड मरीजों के इलाज के लिए अनुबंधित अस्पतालों की बिलिंग व्यवस्था में सुधार करने के लिए शुरू की है। इसके तहत वे व्यक्ति, जिन्हें #COVID19 है और आयुष्मान योजना में पंजीकृत नहीं हैं, अब वे भी राज्य सरकार से अनुबंधित किसी कोविड केयर अस्पताल में निःशुल्क इलाज करा सकेंगे। इनका भर्ती होने और उपचार का पूरा खर्च मध्यप्रदेश सरकार उठाएगी।

  • ऐसे होगी पूरी प्रक्रिया
  • मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने और इलाज के खर्च की पूरी जानकारी एक तय फॉर्मेट में भरकर अस्पताल प्रबंधन को देनी होगी।
  • यह फॉर्मेट अस्पताल ही उन्हें उपलब्ध कराएगा।
  • प्रबंधन को मरीज के इलाज का बिल स्वास्थ्य विभाग के टीएमएस पोर्टल पर अपलोड करना होगा।
  • अनुबंधित निजी कोविड अस्पतालों में आयुष्मान में पंजीकृत और गैर पंजीकृत कोरोना मरीजों का नि:शुल्क उपचार होगा।
  • यहां भर्ती मरीज, स्वेच्छा से आंशिक, इलाज खर्च का एक हिस्सा अथवा इलाज के पूरे बिल का पेमेंट कर सकेंगे। प्रबंधन इसकी रसीद उन्हें देगा।
  • इसे पोर्टल पर अपलोड भी करेगा। अस्पताल संचालक मरीज पर पेमेंट के लिए किसी तरह का दबाव नहीं बना सकेंगे।
  • सरकार ने यह व्यवस्था प्राइवेट अनुबंधित कोविड हॉस्पिटल्स में मरीजों के इलाज खर्च के बिलों के ऑडिट के लिए दी है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here