प्रदेश में हर वर्ग का विकास किया, चौथी बार बन रही भाजपा सरकार : तोमर

bjp-senior-leader-narendra-tomar-Claim-to-form-government-in-madhya-pradesh-

भोपाल। भाजपा चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष एवं केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने दावा किया है कि भारतीय जनता पार्टी प्रदेश में बहुमत के साथ चौथी बार सरकार बनाने जा रही है। कांग्रेस के पास न तो कोई नेता है, न ही कोई स्पष्ट नीति है और न ही नीयत साफ है। ऐसे में प्रदेश की जनता पिछले चुनावों की तरह इस बार भी कांग्रेस को ठुकरा चुकी है। पूरे चुनाव में कांग्रेस नेताओं ने कहीं भी विकास की बात नहीं, इससे सिद्ध होता है कि कांग्रेस का विकास से कोई लेना देना चाहिए। मप्र की जनता सब समझती है और अपना फैसला भाजपा के पक्ष में दे चुकी है। तोमर ने विशेष बातचीत में कहा कि भाजपा सरकार ने प्रदेश में हर वर्ग की योजनाएं बनाई हैं और विकास किया है। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने किसानों के लिए जो कर्जमाफी की घोषणा की, उस पर किसी को भरोस नहीं है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने एक साल में प्रदेश के खातों में 35 हजार करोड़ से ज्यादा रुपए डालने का काम किया है। अगले 5 सालों में किसानों के लिए ऐसी नीति बनाई जाएगी, जिससे वे कर्जदार ही नहीं बनें। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि पिछले सालों में सरकार ने स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में काम किया है, लेकिन इसमें और अधिक सुधार की जरूतर है। अन्य सेक्टरों की तरह अब अगला फोकस इन्हीं दो सेक्टरों के विकास पर रहेगा। तोमर ने कहा कि भाजपा सरकार ने जो योजनाएं बनाई हैं, उससे प्रदेश में भाजपा बहुत मजबूत हुई है। जबकि चुनाव में कांगे्रस ने जो घोषणाएं की है, उन पर जनता को भरोसा नहीं है। क्योंकि कांग्रेस को विकास से कोई -लेना देना नहीं है। पूरे चुनावी कैंपेन में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, कमलनाथ समेत अन्य किसी भी नेता ने विकास की बात नहीं की। वैसे तो कांग्रेस के पास न नेता है, न नीति और न ही नीयत साफ है। 

राहुल के गोत्र को लेकर कांग्रेस में ही संदेह

तोमर ने राहुल गांधी द्वारा अजमेर के पुष्कम मंदिर में पूजा-अर्चना के दौरान अपना गोत्र बताए जाने पर भी चुटकी ली है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी 49 साल के हो चुके हैें, इतने साल बाद उन्हें गोत्र बताने की जरूरत क्यों पड़ी। क्या कांग्रस सदमे के दौर से गुजर रही है। तोमर ने कहा कि राहुल के गोत्र पर कांग्रेस में ही संदेह है। भारतीय संस्कृति में गोत्र हमेशा पिता के गोत्र से होता है। उनके पिता और दादा का गोत्र क्या था। तोमर ने कहा कि राहुल गांधी ने खुद का गोत्र कौल बताया है, लेकिन कौल तो कश्मीरी होते हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here