सूदखोर की प्रताड़ना से तंग आकर युवक ने की खुदकुशी

751
boy-commit-suicide-due-to-debtors-pressure-

भोपाल। एक सूदखोर की प्रताडऩा से तंग आकर युवक ने जान दे दी। मृतक के पिता का आरोप है कि बेटे ने एक लड़के से पांच हजार रूपए ब्याज पर लिए थे। उक्त पांच हजार की रकम उसे मय ब्याज के लौटाई जा रही थी। बावदूद इसके आरोपी 25 हजार रूपए और देने की मां कर रहा था। जिससे तंग आकर बेटे ने जान दी है। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। पुलिस का कहना है कि घटना स्थल से फिलहाल कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। खुदकुशी के कारणों की जांच की जा रही है। परिजनों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। 

एसआई प्रकाश आलावा के अनुसार राकेश साहू पिता प्यारेलाल साहू (25) मकान नंबर 101/4 सर्वेंट क्वार्टर पांच नंबर स्टाफ शिवाजी नगर न्यू मार्केट में जलजीरा का ठेला लगाता था। बीती रात 11:55 बजे वह घर पहुंचा था, जहां उसने मां से इटली और सांबर देने की बात कही इसके बाद में अपने कमरे में गया और करीब आधे घंटे तक बाहर नहीं निकला। तब पिता उसे खाना खाने के लिए बुलाने गए। उन्होंने गेट को अंदर से लॉक देखा, काफी आवाजे दी पर गेट नहीं खुला। इसके बाद में छोटे भाई और पिता ने किसी तरह से गेट को तोड़कर शव को फंदे से उतारा और अस्पताल पहुंचाया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जेपी अस्पताल की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और बॉडी को पीएम के लिए रवाना कर दिया। मरचुरी में आज सुबह 11 बजे बॉडी का पोस्टमार्टम शुरू कर दिया गया था। जिसके बाद में शव परिजनों के हवाले कर दिया जाएगा। वहीं मृतक के पिता प्यारेलाल का कहना है कि उनके छोटे बेटे ने बताया कि संतोष नाम का एक युवक भीम नगर में रहता है। जिससे पिछले दिनों राकेश ने पांच हजार रूपए सूद पर लिए थे। इसके एवज में कुछ समय उसने ब्याज दिया। 

– देरी पर वसूलता था डबल ब्याज

मृतक के पिता ने आगे बताया कि संतोष रोजनदारी पर सूद लेता था, एक भी दिन ब्याज न देने पर दोगुना सूद अगले दिन लेता था। ऐसे कर उसने पांच हजार के 25 हजार रूपए का ब्याज रोकेश पर चढ़ा दिया था। तीन-चार दिन पहले संतोष ने रकम की मांग को लेकर राकेश के ठेले पर पहुंचकर हंगामा किया था। तब उनके छोटे बेटे ने उसे पांच हजार रूपए दे दिए थे। बचे बीस हजार रूपए देने के लिए संतोष लगातार राकेश पर दबाव बना रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here