MP में जारी सियासी वार, सिंधिया समर्थक मंत्रियों पर कांग्रेस ने ली चुटकी

भोपाल| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj singh chauhan)ने कल शपथ लेने वाले 5 मंत्रियों को विभागों का बंटवारा कर दिया। नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) को गृह और स्वास्थ्य विभाग, मीना सिंह (meena singh) को आदिम जाति कल्याण‍ विभाग। कमल पटेल (kamal patel) को कृषि मंत्रालय दिया गया है| वही सिंधिया समर्थक तुलसी सिलावट (Tulsi silavat)को जल संसाधन, गोविंद सिंह राजपूत (Govind singh rajput)को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग सौंपा गया। कांग्रेस ने विभागों के बंटवारे को लेकर सिंधिया समर्थकों पर निशाना साधा है|

मध्य प्रदेश कांग्रेस (Madhya Pradesh Congress) ने ट्विटर के माध्यम से सिंधिया समर्थक मंत्रियों पर हमला बोला है| कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा- ‘उप मुख्यमंत्री का पद मिलना था, एक अच्छा विभाग तक न मिल सका..! जयचंदों की क़ीमत ख़त्म हुई..! राज्यसभा दूर है, विधायक रहे नही, मंत्री पद नाम भर को मिला, बीजेपी टिकट देगी नही, टिकट मिली तो जीत नामुमकिन..! कुल मिलाकर- श्रीअंत का अंत श्री हो गया’।

सिंधिया समर्थक निशाने पर
अगले ट्वीट में मप्र कांग्रेस ने लिखा-बीजेपी सोच रही थी-उप मुख्यमंत्री जैसा छोटा पद देंगे, लेकिन श्रीअंत ने ताक़त दिखाई और जल संसाधन विभाग ले लिया| इसके अलावा सिंधिया समर्थक मंत्री तुलसी सिलावट के मंत्री बनने पर कांग्रेस ने हमला बोला है| एक खबर पर ट्वीट करते हुए कांग्रेस ने लिखा -‘आसान नहीं है दग़ाबाज़ों की राह : मप्र को कोरोना संकट में धकेलने के सबसे बड़े गुनाहगार और महामारी के समय बैंगलोर के रेस्तराँ में बैठकर जनादेश बेचने के महापापियों की ऐतिहासिक पराजय होगी। कांग्रेस इन्हे जीतने नहीं देगी, बीजेपी इन्हें जीने नहीं देगी, और जनता इन्हें माफ नहीं करेगी’।