राजधानी में बह रही साहित्यिक-सांस्कृतिक गंगा, लगातार आयोजन से श्रोता हो रहे भावविभोर

भोपाल। राजधानी भोपाल के हिस्से साहित्यिक-सांस्कृतिक गंगोत्री में डुबकी लगाने के बड़े मौके आए हुए हैं। पिछले कुछ दिनों से लगातार चल रहे आयोजनों का सिलसिला आने वाले कई दिनों तक जारी रहने वाला है। मप्र स्थापना दिवस के आयोजनों के बीच पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की याद में आयोजित किए जाने वाले अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का समय आ गया है। इसके साथ ही कदमताल करते हुए रवीन्द्रनाथ टैगोर यूनिवर्सिटी के विश्व रंग का आगाज भी सोमवार को हो गया है। साहित्यिक-सांस्कृतिक आयोजन की इस कड़ी में कला, साहित्य, लेखन, नाट्य से लेकर शेर-ओ-गजल और काव्य की विभिन्न विधाओं से लोगों को ओतप्रोत होने के मौके मिल रहे हैं।

एक नवंबर मप्र स्थापना दिवस के पूर्व से ही राजधानी में विभिन्न सांस्कृतिक और साहित्यिक आयोजनों का सिलसिला शुरू हो गया था। भारत भवन से लेकर रवीन्द्र भवन तक आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में लोगों ने जमकर साहित्यिक रसपान किया। मुख्यमंत्री कमलनाथ से लेकर संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ तक ने इन कार्यक्रमों में मौजूदगी दर्ज करवाकर इन आयोजनों के सफल होने की कोशिशों को आगे बढ़ाया। इस दौरान कई तरह के आयोजन हुए। 

विश्व रंग में कई रंग 

साहित्य से गहरे लगाव के पैरोकारों में शामिल रवींद्र नाथ टैगोर के नाम से जुड़ी संस्था रवीन्द्रनाथ टैगोर यूनिवर्सिटी द्वारा 4 नवंबर की शाम से विश्व रंग का रंगारंग कार्यक्रम शुरू किया है। 10 नवंबर तक लगातार चलने वाले इस आयोजन में तीस देश, पाँच सौ से ज्यादा प्रतिनिधि, साथ सत्र होंगे। जिसमें साहित्य, संस्कृति, शिक्षा, सिनेमा, पत्रकारिता, पयाज़्वरण पर बात होगी। एक आयोजन की माला में इतने मनके पिरोने वाला यह देश का पहला आयोजन कहा जाने वाला है। कार्यक्रम की भव्यता का अंदाज इसमें शामिल होने वाले नोबल, बुकर, पदम् भूषण, पद्मश्री जैसे अलंकारों की माला पहने रचनाकारों की मौजूदगी से लगाया जा सकता है। आयोजनों के दौरान दुनियाभर के शिक्षकों-विद्यर्थियों का जमावड़ा भी होगा, साहित्य को सहेजने काम करने वाली अकादमियों की सहभागिता भी और टैगोर से लेकर गांधी तक विचारों का आदान-प्रदान भी इस दौरान किया जाएगा। कार्यक्रम में चीन, जापान, अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, डेनमार्क, नीदरलैंड, रशिया, उज़्बेकिस्तान, कजाकिस्तान जैसे मुल्कों के साहित्य समझ के लोग शामिल हो रहे हैं। 

याद-ए-अर्जुन में गजलों की बारिश

संस्था अर्जुन सिंह सदभावना मंच मप्र द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह को आदरांजलि पेश करने के लिए एक अखिल भारतीय मुशायरे का आयोजन किया जा रहा है। 5 नवंबर की शाम का इकबाल मैदान पर होने वाले इस आयोजन में देशभर के ख्यातनाम शायर अपना कलाम पेश करेंगे। आयोजन समिति के डॉ. महेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि मुशायरे में अहजर इनायती, डॉ. राहत इंदौरी, जौहर कानपुरी, अंजुम रहबर, शबीना अदीब, प्रताप फौजदार, अबरार काशिफ, सज्जाद झंझट, महशर आफरीदी, अखिलेश द्विवेदी, मीसम गोपालपुरी, ररफ नानपारवे आदि शायर अपने कलाम पेश करेंगे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here