MP अजब है : मृत कर्मचारी का कर दिया मंत्री स्टाफ से तबादला

GAD-transferred-dead-employee-from-minister-staff

भोपाल। नई सरकार के गठन होते ही सामान्य प्रशासन विभाग ने मंत्रियों के स्टाफ में पदस्थ कर्मचारियों को उनके मूल विभाग में लौटने के आदेश जारी कर दिए हैं। खास बात यह है कि 9 पेज के तबादला आदेश में सामान्य प्रशासन विभाग ने 6 महीने पहले मृत हो चुके कर्मचारी रामजीवन विश्वकर्मा का भी तबदला आदेश जारी किया है। विश्वकर्मा राज्यमंत्री शरद जैन के स्टाफ में पदस्थ थे। 

सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी मंत्रियों के स्टाफ में पदस्थ कर्मचारियों के तबादला आदेश जारी किए हैं। जिसके तहत कर्मचारियों को मंत्रालय अथवा उनके विभाग में लौटना होगाा। अब नए मंत्री शपथ लेने के बाद अपनी पसंद के कर्मचारियों को अपने स्टाफ में रखेंगे|

प्रशासनिक सर्जरी जल्द, हटेंगे चुनिंदा अफसर, सीएम के हिसाब से होगी जमावट 

मुख्यमंत्री के शपथ लेते ही कई अफसरों पर तबादले की गाज गिरना तय है। जिनमें ऐसे अफसरों के नाम शामिल हैं,जो लंबे समय से एक ही विभाग में पदस्थ है। ऐसे में अफसरों की बाकायदा सूची तैयार हो चुकी है। जिन अफसरों पर तबादले की गाज गिरना है, उनमें ऐसे अफसरों के नाम शामिल हैं, जो भाजपा सरकार के चहेते अफसर रहे हैं। इनमें कृषि, नगरीय प्रशासन, सामान्य प्रशासन, ग्रामीण विकास, आधा दर्जन विभागों के विभागाध्यक्षों के नाम शामिल हैं। इसके अलावा भी बड़ा प्रशासनिक फेरबदल होना है। हालांकि प्रशासनिक जमावट नए मुख्य सचिव के चयन के बाद होगी। मुख्यमंत्री की कमान संभालने के बाद कमलनाथ को मुख्य सचिव का चयन करना है।  खबर है कि आज कल में सीएम  बड़ी प्रशासनिक सर्जरी कर सकते है। पहली कड़ी में आईएएस अफसरों के तबादलों की पहली सूची जारी की जा सकती है। सत्ता परिवर्तन के बाद भाजपा नेताओं के रिश्तेदारअधिकारियों का भी हटना तय है। इन अधिकारियों की पदस्थापना विधानसभा चुनाव से ठीक पहले की गई थी। जिसमें जनसंपर्क के संचालक आईपीएस अधिकारी आशुतोष प्रताप सिंह, नगर निगम भोपाल के आयुक्त अवनीश लवानिया का नाम शामिल है। आशुतोष शिवराज सिंह चौहान के भांजे दामाद हैं, जबकि लवानिया पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा के दामाद हैं।