लापरवाही बरतने वाले अफसरों पर गिरी गाज, आधा दर्जन का कटा वेतन

भोपाल। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के लापवाही बरतने वाले आधा दर्जन अधिकारियों का एक दिन का वेतन कट गया। मंगलवार को कंपनी मुख्यालय में प्रबंध संचालक विशेष गढ़पाले टीएल बैठक ले रहे थे। बैठक में अधिकारी सही जानकारी लेकर नहीं पहुंचे, जिस बजह से उनके खिलाफ वेतन कटौती की कार्रवाई हुई। बताया जाता है कि टीएल बैठक के प्रकरणों को लेकर अधिकारी गंभीर नजर नहीं आते। इसलिए प्रबंध संचालक को कड़े कदम उठाने पड़े।

 मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के प्रबंध संचालक विशेष गढ़पाले ने कंपनी मुख्यालय के मुख्य महाप्रबंधक, क्षेत्रीय मुख्य महाप्रबंधक भोपाल-ग्वालियर और 16 जिलों के महाप्रबंधकों को निर्देशित किया है कि टीएल प्रकरणों को गंभीरता से लें और उनका निराकरण समय-सीमा में करें। टीएल प्रकरणों के निपटारे में किसी भी प्रकार की कोताही को बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बुधवार को गोविंदपुरा स्थित कंपनी मुख्यालय में टीएल बैठक में प्रबंध संचालक ने प्रकरणों में बरती जा रही लापरवाही के लिए आधा दर्जन से अधिक अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए। प्रबंध संचालक विशेष गढ़पाले ने कहा है कि मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी एक उपभोक्ता उंमुखी कंपनी है। उपभोक्ताओं की शिकायतों का निराकरण कंपनी की सर्वोच्च प्राथमिकता है, साथ ही कंपनी के कार्मिकों की शिकायतों और अन्य शिकायतों का निराकरण समय-सीमा में होना चाहिए। उन्होंने कहा कि टीएल प्रकरणों की समीक्षा हर सप्ताह की जाती है। इन प्रकरणों को जो अधिकारी गंभीरता से नहीं लेंगे, उनके खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।