हुजूर विधानसभा के 50 हजार घरों में लहराएगा तिरंगा : रामेश्वर शर्मा

जब तिरंगा देख गोली-मिसाइल ने रास्ता बदल दिया

भोपाल,रवि नाथानी। आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा अभियान के तारतम्य में भोपाल (bhopal) की सामाजिक, धार्मिक सांस्कृतिक संस्था कर्मश्री द्वारा तिरंगा यात्रा का आयोजन 14 अगस्त 2022 को आयोजित किया जा रहा है। साथ ही हुजूर विधानसभा के 50 हजार घरों में हर घर तिरंगा अभियान को सफल बनाने में कार्यकर्ता जुटेंगे। हुजूर विधान सभा के विधायक एवं कर्मश्री के अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने मानस भवन में आयोजित कर्मश्री की बैठक में कार्यकर्ताओं को दी।

यह भी पढ़े…भुट्टे का बाल होता है सेहत के लिए वरदान, इन समस्याओं को करता है दूर, जानें इसके फायदे

2 हजार कार्यकर्ताओ ने दोहराया हर घर तिरंगा अभियान का संकल्प
विधायक एवं कर्मश्री के अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हर घर तिरंगा अभियान को सफल बनाने के संकल्प को पूरा करने के उद्देश्य से बैठक में उपस्थित 2 हजार कार्यकर्ताओ के साथ हाथ उठा कर दोहराया। शर्मा ने कहा की हर घर जाएं प्रधानमंत्री मोदी जी के संकल्प को पूरा करने में आज से ही जुट जाएं।उन्होने कहा कि हमारा देश आजादी का 75 वाँ अमृत महोत्सव मना रहा है। इस अमृत काल मे देश जातिवाद, वंशवाद, परिवारवाद से ऊपर उठकर राष्ट्रवाद के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है। देश ने यह ठान लिया है, की राष्ट्रवाद के साथ प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया का सबसे ताकतवर देश बनेगा।

यह भी पढ़े…Government Job 2022 : यहाँ 24 पदों पर निकली है भर्ती, जानें आयु-पात्रता, 07 अगस्त से पहले करें आवेदन

पहली महिला आदिवासी राष्ट्रपति मुर्मू को बधाई दी गई

कर्मश्री की बैठक में विधायक रामेश्वर शर्मा ने भारत की पहली महिला आदिवासी नवनिर्वाचित राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मू को बधाई देते हुए कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव का उत्साह दोगुना हो गया है क्योंकि भारत मे पहली बार एक आदिवासी परिवार की बेटी श्रीमती द्रोपदी मुर्मू को भारत का राष्ट्रपति बनाया गया है ।

विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि तीन रंगों में रंगा हमारा तिरंगा हमारी आत्मा है, हमारा अभिमान है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृव में भारत स्वाभिमान के साथ आगे बढ़ रहा है। तिरंगे की ताकत पूरी दुनिया ने यूक्रेन रसिया युद्ध के दौरान देखी जब भारत के छात्र तिरंगा हाथ मे थाम कर निकले तो गोली और मिसाइल ने रास्ता बदल दिया।