Independence Day 2020: CM शिवराज ने बताया- ‘क्या है सरकार का संकल्प’

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

कोरोना संकटकाल (corona crisis) के बीच आज 15 अगस्त को देशभर में स्वतंत्रता दिवस (Independence day) मनाया जा रहा है। एमपी के भी सभी जिलों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। मुख्यमंत्री सीएम शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister CM Shivraj Singh Chauhan) ने भोपाल में तिरंगा फहराया और प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि मां भारती से आज यही प्रार्थना कि मध्यप्रदेश के निवासियों के जीवन में समृद्धि आए। हमारा आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने का हमारा संकल्प पूरा हो। यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः” हमारा संकल्प है महिलाओं के सशक्तिकरण का, महिलाओं में गजब की रचनात्मकता होती है और कोरोना काल में इसका उदाहरण हमें देखने भी मिला है।इस दौरान शिवराज ने घोषणा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में अब कोई भी सरकारी कार्य बेटी की पूजा करने के बाद ही शुरू किया जाएगा। मेधावी छात्रों के लिए लेपटॉप दिए जाएंगे।

शिवराज ने कहा कि जब हम सरकार में आए तो कोरोना का संकट था। हमने डेडिकेटिट कोविड अस्पताल बनाएं, पीपीई किट व दवाईयों की व्यवस्था की, टेस्टिंग क्षमता बढ़ाई। मुझे संतोष है कि हमने कोरोना से निपटने के लिए प्रदेश में पर्याप्त व्यवस्थाएं कर ली हैंं। संबल योजना हमने फिर से चालू कर दी है, गरीबों के बच्चों को पढ़ने का अधिकार है, उन्हें सपने देखने का अधिकार है। मेरे भांजे-भांजियों आपकी पढ़ाई का खर्चा सरकार देगी, आप निश्चिंत होकर पढ़ाई करें।

मुख्यमंत्री सुरक्षा में पदस्थ सुरक्षाबल के सभी सदस्यों ने सदैव ही मेहनत, लगन और निष्ठा के साथ अपना दायित्व निभाया है। आज #स्वतंत्रतादिवस के अवसर पर उन सभी के उत्साहवर्धन के लिए उन्हें पुरुस्कृत किया गया है।इस अवसर पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सभी शासकीय सेवकों को शुभकामनाएं देते हुए उनकी सुरक्षा में पदस्थ पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा अपना कार्य अत्यंत मेहनत लगन और निष्ठा के साथ किए जाने के फलस्वरूप उन्हें पुरस्कृत भी किया। सभी राजपत्रित अधिकारियों को प्रशंसा-पत्र, सभी निरीक्षकों को रुपये 5750, उप निरीक्षकों एवं सहायक उप निरीक्षकों को रूपये 5500 तथा प्रधान आरक्षकों एवं आरक्षकों को रुपये 5000 का पुरस्कार प्रदान किया गया।

सबसे पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सुबह आठ बजे मुख्यमंत्री निवास और फिर बीजेपी कार्यालय पहुंचकर ध्वाजरोहण किया ।वही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीटकर प्रदेशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। सीएम ने कहा- देश को स्वतंत्र कराने के लिए अपने प्राणों को न्योछावर कर देने वाले मां भारती के सभी वीर सपूतों को स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर सादर प्रणाम करता हूं। आपके सपनों के भारत के निर्माण के लिए हम सब प्राण-प्रण से प्रयास करेंगे। जय हिन्द, जय भारत

सीएम ने सुनाई ये कविता
आज नही तो,कल निकलेगा।
अर्जुन सा लक्ष्य रख, निशाना लगा
मरुस्थल से भी फिर, जल निकलेगा

मेहनत कर, पौधों को पानी दे,
बंजर में भी फिर, फल निकलेगा।
ताक़त जुटा, हिम्मत को आग दे
फौलाद का भी, बल निकलेगा।

सीने में उम्मीदों को, ज़िंदा रख,
समन्दर से भी, गंगाजल निकलेगा।

भारतमाता की प्रतिमा का अनावरण
इसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान शौर्य स्मारक पहुंचे हैं ,सर्वप्रथम उन्होंने शौर्य स्तम्भ पर पुष्पचक्र अर्पित किया और फिर भारतमाता की प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान सीएम के साथ उनकी धर्मपत्नी साधना सिंह भी मौजूद रही।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए राजधानी में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। 120 से अधिक स्थानों पर थाना व यातायात पुलिस चेकिंग प्वांइट बनाकर वाहनों व संदिग्धों की सघन चेकिंग की जा रही है। पुलिस के 3300 जवान सुरक्षा व्यवस्था में तैनात है, जिसमें एसएएफ और जिला पुलिस शामिल हैं। इसके अलावा आउटर के 12 ऐसे चेकिंग प्वाइंट हैं, जहां पुलिसकर्मी देर रात तक चेकिंग करते नजर आएंगे।वही होटल, लॉज, रेस्टोरेंट, रैन बसेरा, धर्मशाला आदि में ठहरने वाले लोगों की चेकिंग की कर रही है। धार्मिक स्थल एवं बैंक, एटीएम व अन्य वित्तीय संस्थानों की जांच की जा रही है। साथ ही रेलवे स्टेशन, अन्य संवेदनशील स्थानों पर बम डिस्पोजल एवं डॉग स्क्वॉड टीम द्वारा चेकिंग की जा रही है। शहर की सीमाओं को सील कर दिया गया है। बाहर जाने और आने वाले सभी वाहनों को चेक किया जा रहा है। उनके नाम पते लिखे जा रहे हैं।

16 अगस्त से शुरु होगा बैठकों का दौर
रविवार से आत्मनिर्भर मप्र के लिए बनाए गए मंत्रियों के चार समूहों और उनके समन्वय अधिकारियों के साथ बैठकों का दौर शुरू होगा। इस दौरान मंत्री ड्राफ्ट तैयार कर 25 अगस्त तक अपनी सिफारिशें मुख्यमंत्री को सौंपेंगे। जिसके बाद नीति आयोग से चर्चा कर तीन वर्ष का फाइनल ड्राफ्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपा जाएगा। रोडमैप में एक साल, छह महीने और तीन माह के लक्ष्य भी होंगे।