मॉल की पार्किंग बनी अय्याशी का अड्डा…एसपी ने लगाई फटकार

mall-parking-become-lovers-point-in-bhopal-

भोपाल। डीबी मॉल की पार्किंग इन दिनों प्रेमी जोड़ों के लिए मिलन का अड्डा बनी हुई है। यहां की पेड पार्किंग में खड़ी कारों में युवा जमकर अय्याशी करते हैं। सुरक्षा के लिए तैनात किए गए यहां के गार्ड इन्हे नजर अंदाज करते हैं। साथ ही माल में अन्य प्रकार की सुरक्षा अवेवस्थाओं को की जानकारी लगातार एसपी साउथ संपत उपाध्याय को मिल रही थीं। पुलिस सूत्रों की माने तो मॉल की पार्किंग में होने वाली अय्याशी और रविवार की रात मॉल में लॉ छात्रा से छेडख़ानी तथा एम्स के जूनियर डाक्टर्स से मारपीट के बाद में एसपी ने कल वहां के सिक्युरिटी इंचार्ज को फटकार लगाई है। आगे से मॉल के अंदर किसी भी प्रकार की वारदात होने पर सिक्योरिटी इंचार्ज के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

उल्लेखनी है कि 19 वर्षीय पीडि़ता अरेरा कॉलोनी की निवासी है। वह एक कॉलेज से लॉ की पढ़ाई कर रही है। रविवार को अपने मित्र के साथ में मॉल घूमने गई थी। जहां स्थित मेक्डान्ड्स बरगर के केश काउंटर पर लाइन में लगी थी। इसी दौरान उसके साथ में एक अधेड़ ने छेडख़ानी कर दी थी। इसी दिन मॉल में स्थित स्टेंजर बार में एम्स के दो डाक्टरों के साथ में मारपीट की गई थी। मारपीट करने वालों में बार का मैनेजर, बाउंसर और मॉल का सिक्युरिटी गार्ड शामिल था। इससे पूर्व मॉल के एक शोरूम में कर्मचारी द्वारा महिला कस्टमर के चेंजिंग रूम में महिला का अश्लील वीडियो बनाने तथा चोरी की वारदातें सामने आ चुकी हैं। ���ॉल में तैनात सुरक्षा गार्ड्स लगातार कार्य में लापरवाही बरत रहे हैं। जिसके बाद में एसपी ने सिक्युरिटी इंचार्ज को फटकारा है।

ऑफ दी रिकार्ड: टीआई की बिदाई पार्टी में सटोरिये को कोसते रहे अधिकारी

भोपाल। आचार संहिता के दौरान शनिवार की रात नए शहर के एक थाने में ग्रांड पार्टी का आयोजन किया गया। आयोजन इस थाने के पूर्व टीआई को बिदाई के लिए रखा गया था। इस दौरान एक सीएसपी, 6 थानों के प्रभारी एवं दो आला अधिकारी पार्टी में मौजूद थे। पुलिस सूत्रों की माने तो पार्टी में एक सीएसपी पूरी तरह से सुरूर में दिखाई दे रहे थे। जहां बातों-बातों में उनके दिल का दर्द बाहर निकल आया। पिछले दिनों जिस थाने में पार्टी की गई वहां के टीआई और उसी क्षेत्र के सीएसपी का रूटीन ट्रांस्फर हुआ था। ट्रांसफर के कुछ ही दिनों पहले इन दोनों अधिकारियों के आदेश पर शहर के एक प्रख्यात सटोरिए को गिरफ्तार किया गया था। ट्रांसफर के बाद में इस सटोरियों ने बकायदा लोगों को मैसेज और कॉल कर बताया कि उसने दोनों अधिकारियों का ट्रांसफर कराया था। फिर क्या था सटोरिये के खौफ से जिस स्कॉड के प्रभारी के नेत्रित्व में इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया वह सटोरिये को सफाई देने पहुंच गए। इस बात की भी अधिकारियों तक पूरी जानकारी पहुंच चुकी थी। इस पार्टी में सीएसपी साहब ने साफ कहा कि सटोरिये और स्कॉड प्रभारी को वह जहां भी रहे किसी हाल नहीं छोड़ंगे।