MP Assembly : स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ख़ारिज, सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

MP Assembly : मध्य प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही आज अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित कर दी गई, कार्यवाही स्थगित होने के साथ ही मप्र विधानसभा का बजट सत्र भी तय समय से 6 दिन पूर्व ही समाप्त हो गया, सदन की कार्यवाही स्थगित होने से पहले बजट ध्वनिमत से पारित हो गया साथ ही स्पीकर गिरीश गौतम के खिलाफ कांग्रेस द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव ख़ारिज हो गया।

विधायक कृष्णा गौर बनी सभापति

आज मंगलवार को विधानसभा की कार्यवाही एक नवाचार से शुरू हुई, स्पीकर गिरीश गौतम की एक नई परंपरा सदन के सामने देखने को मिली। 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस था लेकिन उस दिन होली पर्व का अवकाश होने के कारण सदन में नारी शक्ति को सदन में प्रश्न पूछने तथा महिला सभापति के द्वारा सदन का संचालन नहीं किया जा सका था, इस परंपरा को स्पीकर गिरीश गौतम  ने आज सदन में महिला दिवस के रूप में मनाया तथा सदन की महिला सदस्‍य श्रीमती कृष्णा गौर को सभापति बनाया। प्रश्‍न काल में श्रीमती राजश्री रूद्रप्रताप सिंह,श्रीमती झूमा सोलंकी,सुश्री लता कावरे, श्रीमती कल्पना वर्मा,श्रीमती रामबाई तथा डॉ विजयलक्ष्मी साधो ने भाग लिया।

MP Assembly : स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ख़ारिज, सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

अविश्वास प्रस्ताव पर भिड़े भाजपा कांग्रेस  

सदन में आज सबसे पहले स्पीकर गिरीश गौतम के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर बहस हुई। स्पीकर ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए 27 मार्च की तारीख दी लेकिन संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इसे नियम विरुद्ध बताते हुए आपत्ति जताई। सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने फिर आपत्ति जताई और वे स्पीकर से सहमत नहीं दिखे। उन्होंने कहा- अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास नहीं आ सकता। मैं भाजपा की ओर से प्रस्ताव कर रहा हूं कि इस अविश्वास प्रस्ताव को अस्वीकृत किया जाए।

स्पीकर गिरीश गौतम के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ख़ारिज 

पूर्व अध्यक्ष सीताशरण शर्मा ने भी संसदीय कार्य मंत्री का समर्थन करते हुए कहा कि संकल्प नियमों के विपरीत हो, तो उस पर कोई चर्चा नहीं हो सकती। पहले दिन और अंतिम दिन चर्चा नहीं हो सकती। संसदीय कार्यमंत्री और पूर्व स्पीकर के असहमति जताने के बाद स्पीकर ने भाजपा के प्रस्ताव पर पक्ष और विपक्ष के सदस्यों से हाँ और न कराई,  भाजपा का प्रस्ताव स्वीकृत हो गया और फिर स्पीकर के खिलाफ कांग्रेस के 48 सदस्यों लाया गया अविश्वास प्रस्ताव ख़ारिज हो गया। इसी के साथ बजट भी मंजूर हो गया।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News