MP : 48 लाख से अधिक ग्रामीण परिवारों तक पहुंचा नल से जल, लक्ष्य पूरा करने मंत्री ने दिए ये निर्देश

प्रदेश के एक करोड़ 22 लाख ग्रामीण परिवारों को उनके घर पर नल कनेक्शन के जरिए जल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। घर घर तक नल से जल (Nal se Jal) पहुंचाने के लिए प्रदेश में चल रहे जल जीवन मिशन (jal jeevan mission) लक्ष्य को समय सीमा में पूरा करने के निर्देश लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव (Brijendra Singh Yadav) ने दिए हैं। उन्होंने बताया है कि प्रदेश के एक करोड़ 22 लाख ग्रामीण परिवारों को उनके घर पर नल कनेक्शन के जरिए जल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है। अब तक 48 लाख 69 हजार ग्रामीण परिवारों को नल से जल उपलब्ध करवाया जा चुका है।

राज्य मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जल जीवन मिशन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) की प्राथमिकता में है, मिशन के कार्यों को और अधिक गति दी जाए। निर्माण कार्य और पेयजल गुणवत्ता का ध्यान रखते हुए ग्रामीण परिवारों को शीघ्र पेयजल उपलब्ध करवाने की व्यवस्था हो। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 30 हजार करोड़ से अधिक लागत की विभिन्न जल-प्रदाय योजनाएँ स्वीकृत हैं। सभी योजनाओं को निर्धारित समय में पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाए।

ये भी पढ़ें – कर्मचारियों फिर मिलेगी एक और खुशखबरी! 20 हजार तक बढ़ेगी सैलरी, जानें कैसे?

राज्य मंत्री ने कहा है कि ग्रामीण जल व्यवस्था सीधे तौर पर हमारी माता-बहनों के दैनिक जीवन पर प्रभाव डालती है। ग्रामीण परिवार में घर पर ही नल से जल की व्यवस्था होने से ग्रामीण महिलाओं को शिक्षा और स्व-रोजगार के साथ परिवार की आर्थिक प्रगति में सहयोग का अवसर प्राप्त होता है। इनकी मूलभूत जरूरतों की पूर्ति से ही समुचित विकास तथा आत्म-निर्भरता का संकल्प पूरा हो सकता है और जल हमारी मूलभूत जरूरतों में से एक है। उन्होंने कहा कि हाल ही में बुरहानपुर शत-प्रतिशत नल-जल युक्त जिला बना है। इसी तर्ज पर काम करते हुए अन्य जिलों में भी जल्द ही लक्षित आबादी को पेयजल की पूर्ति की जा सकेगी।

ये भी पढ़ें – MP Weather: 5 दिनों तक ऐसा ही रहेगा मौसम, वातावरण में नमी हुई कम, 13 जिलों में लू का अलर्ट, जानें अपडेट

मंत्री ने बताया कि जल जीवन मिशन में अब तक प्रदेश के 48 लाख 69 हजार ग्रामीण परिवारों को नल से जल उपलब्ध करवाया जा चुका है। जल-प्रदाय योजनाओं पर निरंतर कार्य हो रहे हैं। प्रदेश के एक करोड़ 22 लाख ग्रामीण परिवारों को उनके घर पर नल कनेक्शन के जरिए जल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है। मिशन में ग्रामीण परिवारों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में संचालित शालाओं एवं आँगनवाड़ी केन्द्रों में भी नल कनेक्शन दिए जाने के कार्य त्वरित गति से किए जा रहे हैं। अब तक 60 प्रतिशत से अधिक स्कूल और आँगनवाड़ी में पेयजल की सुविधा की जा चुकी है।

ये भी पढ़ें – यदि आप दक्षिण भारत घूमना चाहते हैं तो IRCTC का ये टूर प्लान है बेहतर मौका